नकली पुलिस अधिकारी चढ़ा असली पुलिस के हत्थे

कल्याण

नकली पुलिस अधिकारी बनकर 10 लाख रुपए रिश्वत लेने वाले एक व्यक्ति को डोंबिवली की मानपाड़ा पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम तुषार शिलवंत है और वह भिवंडी का रहने वाला बताया जा रहा है। बताया जाता है कि गांधीनगर डोंबिवली के रहने वाले शंकर परब रजिस्ट्रेशन एजेंट का काम करते हैं। 7 अप्रैल को वे अपने कार्यालय में बैठे थे। उसी दौरान तुषार शिलवंत नामक व्यक्ति पुलिस लिखा हुआ सफेद कलर की गाड़ी से आया। उसने खुद को वाशी क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताते हुए परब से कहा कि आपके खिलाफ एक लड़की ने शिकायत दर्ज कराई है। यदि कार्रवाई से बचना है तो आपको 5 लाख रुपए फौरन देने पड़ेंगे। पहले तो रजिस्ट्रेशन एजेंट परब घबड़ा गए और कार्रवाई से बचने के लिए उन्होंने 5 लाख रुपए दे दिए। परब को लगा कि मामला खत्म हो गया है, लेकिन 13 अप्रैल को जब फिर से फोन आया और उनसे 10 लाख रुपए की डिमांड की गई तो उनके होश उड़ गए। परब ने इस घटना की शिकायत मानपाड़ा पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दादाहरि चौरे से की। सीनियर पीआई चौरे के निर्देश पर पुलिस उप निरीक्षक अनंत लांब को यह केस सुपुर्द किया गया। गुरुवार को तुषार शिलवंत नामक नकली पुलिसकर्मी ने 10 लाख रुपए लेकर परब को कल्याण बुलाया। शिवाजी चौक पर पुलिस की टीम ने जाल बिछाया और जैसे ही तुषार पैसे लेने के लिए आया पुलिस की टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget