‘फंगल इंफेक्शन को लेकर जागरूकता फैलाने की जरूरत’


नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को देशभर के डॉक्टरों से बातचीत की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बातचीत में पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के इलाज को लेकर डॉक्टरों के अनुभव और सीख जानी। इस बातचीत में देश के विभिन्न इलाकों के चिकित्सक मौजूद रहे, इनमें नॉर्थईस्ट, जम्मू-कश्मीर भी शामिल है। डॉक्टरों ने महामारी के इलाज के दौरान आई मुश्किलों और अनुभव के बारे में पीएम मोदी को बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि डॉक्टरों की अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के साथ कोविड-19 के टीकाकारण की रणनीति से महामारी की दूसरी लहर में बहुत लाभ हुआ। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर की अभूतपूर्व परिस्थितियों से अनुकरणीय लड़ाई हेतु चिकित्सा वर्ग को धन्यवाद ज्ञापित किया। डॉक्टरों के समूह से संवाद करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि घरों में कोविड-19 मरीजों का इलाज एसओपी आधारित होना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा टेलीमेडिसिन सेवा देश की सभी तहसील, जिलों तक विस्तारित करना जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चाहे जांच करना हो या दवाओं की आपूर्ति करनी हो या नये ढांचे बनाए जाने हों, सभी काम तेजी से किए जाएं। पीएम मोदी ने कहा कि डॉक्टरों को म्यूकोरमाइकोसिस के बारे में जागरूकता फैलाने में अतिरिक्त प्रयास करने की जरूरत पड़ सकती है। वहीं प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि करीब 90 प्रतिशत स्वास्थ्य पेशेवर पहले ही पहली खुराक ले चुके हैं और कोविड टीके से अधिकतर डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित हो गयी है। पीएम मोदी हाल के दिनों में कोरोना महामारी को लेकर एक्सपर्ट्स से बातचीत करते रहे हैं। केंद्र सरकार इस वक्त कोरोना के खिलाफ लगातार कई कदम उठा रही है। बीते दिनों पीएम केयर्स फंड से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की बड़े स्तर पर खरीद हुई। इसके अलावा 500 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने का निर्णय लिया गया था। ये प्लांट लगना भी शुरू हो चुके हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget