लग्जरी वैक्सीनेशन पर केंद्र नाराज

होटलों के वैक्सीनेशन पैकेज पर होगी कार्रवाई


नई दिल्‍ली

लग्जरी होटल्स में वैक्सीनेशन ड्राइव चला रहे अस्पतालों पर केंद्र सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है। सरकार ने ऐसे अस्पतालों पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के अधिकारियों को लेटर भेजा। इसमें कहा गया है कि अधिकारी उन होटल्स और अस्पतालों पर नजर रखें, जो वैक्सीनेशन की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। पत्र में कहा गया है कि कुछ प्राइवेट अस्पतालों ने बड़े-बड़े होटल्स के साथ करार कर लिया है। इसमें वैक्सीनेशन का पैकेज दिया जा रहा है। ये सीधे तौर पर गाइडलाइन का उल्लंघन है।

वैक्सीनेशन पर क्या है केंद्र की गाइडलाइन

सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन हो सकता है। कंपनियां अपने कर्मचारियों का वैक्सीनेशन ऑफिस में करवा सकती हैं। वैक्सीनेशन सेंटर दूर होने पर बुजुर्गों के लिए सोसाइटी में कैंप लगाया जा सकता है। इसके अलावा पंचायत भवन, स्कूल और कॉलेज को अस्थाई वैक्सीनेशन सेंटर बनाया जा सकता है।

किस तरह का पैकेज दे रहे हैं होटल?

होटल अपने लग्जरी पैकेज में वैक्सीन लगवाने वालों को ढेर सारी सुविधाएं दे रहे हैं। इसमें रुकने की व्यवस्था, हेल्दी ब्रेकफास्ट, डिनर और वाईफाई के अलावा अस्पतालों से एक वैक्सीनेशन एक्सपर्ट भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। ये पैकेज पांच हजार रुपए का बताया जा रहा है। 

कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीन की नहीं होगी कमी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में कोविड-19 टीकाकरण के लिए जून के महीने में करीब 12 करोड़ खुराक उपलब्ध होंगी। इससे पहले मई के महीने में टीके की 7.94 करोड़ खुराक उपलब्ध थीं। मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा कि विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की खुराकों का आवंटन वहां होने वाली खपत, उसकी जनसंख्या और टीके की बर्बादी के आधार पर किया जाता है। वक्तव्य के मुताबिक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस बात की स्पष्ट तौर पर जानकारी दे दी गयी है कि जून 2021 में उन्हें टीके की कितनी खुराकों की आपूर्ति की जाएगी।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget