मच्‍छरों से हैं परेशान?

घर पर बनाएं मच्छर भगाने का तेल


अगर आपको बाजार में मिलने वाले मॉस्किटो रिपेलेंट की खुशबू बहुत स्‍ट्रॉन्‍ग लगती है या इनके प्रयोग से एलर्जी की शिकायत रहती है तो बता दें कि आप घर पर भी अपने पसंद की खुशबू वाली मॉस्किटो रिपेलेंट ऑयल बना सकते हैं। ये आपकी स्किन के लिए तो सुरक्षित रहेगी ही, आप खतरनाक मच्‍छरों के आतंक से भी बचे रहेंगे। दरअसल, गर्मी आते ही मच्‍छरों की समस्‍या हर किसी के लिए मुसीबत बन जाती है। जिनके घरों पर छोटे बच्‍चे हैं उन्‍हें तो खास ध्‍यान रखने की जरूरत पड़ती है। हालांकि अभी देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है और अधिकतर लोग होम आइसोलेशन में हैं। ऐसे में अधिकतर लोग आउटडोर गतिविधियों से दूर हैं। इसके बावजूद, घर के अंदर भी शाम के समय मच्‍छरों का आना लगा रहता है जो किसी भी हेल्‍दी इंसान को आसानी से बीमार बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि घर पर हम मच्‍छरों से बचने के लिए किस तरह खुद का बनाया हुआ मॉस्किटो रिपेलेंट ऑयल यूज कर सकते हैं।

पिपरमिंट ऑयल और कोकोनट ऑयल

मच्‍छरों को दूर करने के लिए पिपरमिंट ऑयल काफी फायदेमंद होता है। इसे अगर कोकोनट ऑयल के साथ प्रयोग किया जाए तो यह और भी प्रभावशाली तरीके से काम करता है। इसे हम आसानी से नेचुरल बग रिपेलेंट की तरह प्रयोग में ला सकते हैं।

यूकेलिप्‍टस ऑयल

एक एक चम्‍मच यूकेलिप्‍टस ऑयल और लेमन ऑयल को बराबर मात्रा में लें और इसे कोकोनट ऑयल या ऑलिव ऑयल के साथ मिक्‍स करें। बता दें कि नीलगिरी तेल यानी यूकेलिप्‍टस ऑयल में साइट्रोनियल और पी मिथेन, डायोल जैसे तत्‍व होते हैं जो मच्‍छरों को भगाने में काफी कारगर होते हैं।

नीम का तेल

एक शोध के मुताबिक, अगर नीम के तेल को कोकोनट ऑयल के साथ मिलाकर त्‍वचा पर लगाया जाए तो यह कई प्रजातियों के मच्‍छरों को दूर भगा सकता है। ऐसे में आप एक छोटे से बोतल में नीम ऑयल और कोकोनट ऑयल को बराबर मिलाकर रखें और मच्‍छरों से बचने के लिए इनका प्रयोग करें।

टी ट्री ऑयल का प्रयोग

बता दें कि टी ट्री ऑयल में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लामेट्री तत्‍व होते हैं जिनका प्रयोग मच्‍छरों के काटने से हुए दानों को ठीक करने में किया जा सकता है। इसकी स्‍ट्रॉन्‍ग खुशबू की वजह से भी मच्‍छर दूर रहते हैं। इसका उपयोग करने के लिए आप कोकोनट ऑयल के साथ बराबर मात्रा में इसका प्रयोग करें।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget