फर्श पर बैठकर खाने से मिलते है ढेरों फायदे

eating on floor

हम सभी लोग जानते हैं हेल्दी रहने के लिए पौष्टिक और संतुलित आहार खाना चाहिए। लेकिन क्या आप जनाते हैं खाना खाने के तरीके से भी सेहत पर असर पड़ता है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक भोजन ही नहीं उसे खाने का तरीका भी सही होना चाहिए। भारत में बहुत पहले से फर्श पर बैठकर खाने की परंपरा है, लेकिन अब ज्यादातर लोग डाइनिंग टेबल पर खाना पसंद करते हैं। हालांकि गांव में अब भी लोग फर्श पर बैठकर खाना पसंद करते हैं।

फर्श पर बैठकर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में भी इसके बारे में बताया गया है। फर्श पर बैठकर खाने से पाचन तंत्र मजबूत होता है, हृदय रोग, वजन घटाने समेत कई बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है। आइए जानते हैं इससे जुड़े फायदों के बारे में।

फर्श पर बैठकर खाने के समय सुखासन की मुद्र में होते हैं। इस दौरान आप एक पैर को दूसरे पैर पर रखकर बैठते हैं जो एक आसन की मुद्रा है। इससे हमारा पाचन तंत्र मजबूत और अच्छा होता है। इस समय आप सिर्फ खाना नहीं खाते हैं बल्कि आपका दिमाग भी शांत रहता है। साथ ही रीढ़ की हड्डियों को भी आराम मिलता है।

सुखासन की मुद्रा में आप संतुलित रूप से भोजन करते हैं जिसकी वजह से आपका वजन नहीं बढ़ता है। पाचन तंत्र बेहतर होने से मेटाबॉलिज्म रेट भी बढ़ता है। खाना अच्छी तरह से पचता है और आपको जल्दी भूख भी नहीं लगती हैं।

इस मुद्रा में बैठकर खाने से शरीर का निचला हिस्सा मजबूत होता है। इसकी वजह से पेल्विस और पेट के आसापास की मासंपेशियों में खिचांव होता है जिस कारण असहजता और दर्द की शिकायते दूर हो जाती है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget