तीसरी लहर से निपटने को मनपा तैयार

मुंबई

कोरोना की दूसरी लहर अब धीरे धीरे खत्म होती नजर आने लगी है। इस बीच तीसरी लहर की चेतावनी दी जा रही है। तीसरी लहर बच्चों के लिए अधिक घातक बताई जा रही है। मनपा अभी से तीसरी लहर से निपटने के लिए कमर कस ली है। बच्चों के लिए अलग से खाट उपलब्ध कराने से लेकर अतिरिक्त खाट की भी व्यवस्था की जा रही है। अभी मुंबई में 20 से 22 हजार कोविड खाट उपलब्ध हैं। पांच नए कोविड सेंटर सहित पुराने कोविड सेंटर  में 10 हजार अतिरिक्त खाट तैयार किए जा रहे हैं, जिनमे एक हजार खाट आईसीयू के तैयार किए जाएंगे।

कोरोना की दुसरी लहर आने पर मुंबई ने रोजाना एक हजार से 1200 खाट की जरूरत पड़ने लगी थी। तीसरी लहर शिखर पर आने के दौरान ऐसा अंदाज लगाया आज रहा है कि रोजाना की दो हजार से 2200 खाट की जरूरत पड़ेगी। इस तरह कुल लगभग 30 हजार खाट की आवश्यकता पड़ सकती है। मनपा अभी के कुल 20 से 22 हजार खाट की संख्या में और बढ़ोत्तरी करते हुए 10 हजार अतिरिक्त खाट  बनाने का निर्णय लिया है । मनपा पांच नए कोविड सेंटर सहित पुराने जंबो कोविड सेंटर में खाट बढ़ाने की तैयारी की है। 

मनपा अतिरक्त आयुक्त  संजीव जयशवाल ने कहा कि तीसरी लहर से निपटने के लिए मनपा अभी से पूरी तरह कमर कस ली है। मरीजों को खाट के लिए न परेशान होना पड़े । हमारी यही पहली प्राथमिकता है।

वरिष्ठ नागरिकों और बच्चों के लिए स्पेशल खाट

तीसरी लहर में सबसे अधिक प्रभाव बच्चों पर होगा, जिसके चलते बच्चों के लिए अतिरिक्त खाट की वयस्था की जा रही है। बच्चों के लिए स्पेशल वार्ड होगा, जहां पर बच्चों को उनके उम्र अनुसार वार्ड बनाया जा रहा है। बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों को खाट की उपलब्धता को लेकर अधिक ध्यान दिया जा रहा है। कोरोना महामारी में मरीजों को दवा से अधिक ऑक्सीजन की जरूरत देखी जा रही है। मनपा इसके लिए खाट पर अधिक ऑक्सीजन व्यवस्था करने में जुटी है। ऑक्सीजन की कमी न हो इसके लिए ऑक्सीजन उत्पन्न करने के लिए नया प्रोजेक्ट लगाया जा रहा है । 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget