इजरायल-हमास संघर्ष

पोप फ्रांसिस ने की हिंसा की निंदा

वेटिकन सिटी

पोप फ्रांसिस ने इजरायल और िफलिस्तीनियों के बीच ‘अस्वीकार्य’ हिंसा की कड़ी निंदा की और कहा कि खासतौर पर बच्चों की मौत ‘संकेत है कि वे भविष्य का निर्माण नहीं करना चाहते हैं बल्कि विध्वंस करना चाहते हैं। पोप फ्रांसिस ने रविवार को सेंट पीटर स्क्वॉयर की ओर खुलती खिड़की से आशीर्वाद देने के कार्यक्रम में शांति, संयम और वार्ता के रास्ते के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद की प्रार्थना की। उन्होंने कहा, ‘मैंने खुद से पूछा, इस नफरत और बदले से आखिर हमें क्या मिलेगा? क्या हम सच में मानते हैं कि हम अन्य को नष्ट कर शांति प्राप्त कर सकते हैं?’ पोप फ्रांसिस ने आगे कहा, ‘ईश्वर के नाम पर जिसने हम सभी इंसानों को बराबर हक, कर्तव्य और सम्मान के साथ बनाया और भाई की तरह रहने का निर्देश दिया, मैं अपील करता हूं कि इस हिंसा को जल्द से जल्द बंद किया जाए।’ इजरायली सेना ने कहा कि उसने गाजा में हमास के एक शीर्ष नेता के घर पर हमला किया है। गाजा से इजरायल में हवाई हमले और रॉकेट दागे जाने के करीब एक हफ्ते बाद यह हमला किया गया। 

सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल हिदाई जिल्बरमैन ने रविवार को इस्राइली सेना के रेडियो को बताया कि सेना ने गाजा में हमास के सबसे वरिष्ठ नेता येहियेह सिनवार के घर को निशाना बनाया है जो संभवत: वहां छिपा था। उसका मकान दक्षिण गाजा पट्टी में खान युनूस शहर में स्थित है।

 फलस्तीन के गाजा क्षेत्र के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि गाजा शहर में एक मुख्य आम रास्ते पर इस्राइल द्वारा किए गए हवाई हमलों में मरने वालों की संख्या 33 हो गई है, जिनमें 12 महिलाएं और आठ बच्चे शामिल हैं। इस्राइल और गाजा के हमास शासन के बीच लगभग एक सप्ताह पहले शुरू हुई लड़ाई के बाद से यह अब तक सर्वाधिक भीषण हमला था। मंत्रालय ने कहा कि रविवार सुबह हुए हमलों में 50 अन्य लोग घायल भी हुए हैं जिनमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget