गंगा में बहते शव से मचा हड़कंप

कोरोना मृतकों की लाश होने का शक


बक्सर

जिले के चौसा गंगा घाट पर दर्जनों शव नदी में तैरते मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। शव मिलने के बाद क्षेत्र में बड़ी महामारी को लेकर लोग डरे हुए हैं। शक है कि कोरोना से मौत होने के बाद लोग शव को जला भी नहीं रहे है, बल्कि उन्हें जैसे-तैसे अंतिम संस्कार के नाम पर गंगा में ही फेंक दे रहे हैं। गंगा नदी में एक-एक कर दर्जनों शव गंगा नदी में तैर रहे हैं। तैरते शव मिलने के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। स्थानीय लोगों के अनुसार शवों की संख्या लगभग 150 बताई जा रही है। लोगों का यही कहना है कि एक ही जगह पर इतना भारी संख्या में शवों के एक साथ पानी में रहने दुर्गंध कई गांवों के कोने-कोने तक पहुंच रही है। स्थानीय पवनी गांव निवासी अनिल कुमार कुशवाहा ने जब इसकी शिकायत चौसा प्रखंड के सर्किल ऑफिसर से की तो उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया और स्थानीय कर्मचारी को साफ-सफाई के नाम पर सिर्फ 500 रुपए देने का आश्वासन दिया। इस आश्वासन से लोगों में नाराजगी और बढ़ गई है।

इधर बक्सर सदर के एसडीओ केके उपाध्याय का कहना है कि ये लाशें 5 से 7 दिन पुरानी हैं और शक है कि ये यूपी की तरफ से बिहार आई हैं। इनको दफन करने के लिए प्रशासन अपनी तरफ से तैयारी कर रहा है। इसके बारे में यूपी प्रशासन से भी बात की जाएगी।

माना जा रहा है कि कोरोना महामारी के दौरान शवदाह के महंगे खर्च से बचने के लिए लोगों ने लाशों को प्रवाहित करना शुरू कर दिया है। लोग मृत स्वजनों के शवों का जल प्रवाह कर दे रहे हैं। इससे कई तरह की संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा भी बढ़ गया है।

बताया जा रहा है कि पिछले एक सप्ताह के अंदर ही बक्सर के चौसा श्मशान घाट पर दर्जनों शव गंगा किनारे मिले हैं। जल-प्रवाह करने के बाद शव गंगा के किनारे आकर लग गए हैं। गिद्ध और कुत्ते शवों को नोच-नोच कर अपना आहार बना रहे हैं। इससे गंगा घाट किनारे का नजारा और भी वीभत्स हो गया है।

ग्रामीणों की मानें तो श्मशान घाट पर मिलने वाली लकड़ी और अंत्येष्टि की अन्य सामग्रियों की कीमत में बेतहाशा वृद्धि के कारण लोग शवों के अंतिम संस्कार का खर्च नहीं उठा पा रहे हैं। ऐसे में पिछले कुछ महीनों से लोगों में शवों का जल प्रवाह करने की प्रवृत्ति बढ़ी है।

सीओ ने श्मशान घाट का मुआयना किया और कार्रवाई की बात की है। बक्सर एसडीएम ने पूरी स्थिति को जाना और कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि शव गंगा नदी में कहीं और से आकर किनारे लग गए हैं। इसको डिस्पोजल करने की कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने मौके पर यूपी के एक अधिकारी से फोन पर बात कर यह सुनिश्चित करने पर बल दिया कि यूपी की तरफ से गंगा नदी के रास्ते लाशें बहकर बक्सर की तरफ ना आ पाए। साथ ही गंगा में शवों को नहीं फेंका जाए इस बात को लेकर वहां के अधिकारी भी अमल करें।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget