कोरोना की दवा से जीएसटी हटाने पर सरकार का इंकार

Nirmala sitharaman

नई दिल्‍ली

केंद्र सरकार ने कोरोना की दवा, वैक्‍सीन और आक्सीजन कंसंट्रेटर्स की घरेलू आपूर्ति  तथा वाणिज्यिक आयात पर वस्‍तु व सेवा कर हटाने से इंकार कर दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अगर जीएसटी हटा दिया गया, तो आम उपभोक्‍ता के लिए ये सभी सामान महंगे हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि जीएसटी हटने पर इनके निर्माता उत्पादन में इस्‍तेमाल कच्चे माल दूसरी सामानों पर चुकाए गए टैक्‍स के लिए इनपुट-टैक्स-क्रेडिट (ITC) का दावा नहीं कर सकेंगे। देश में इस समय वैक्‍सीन की घरेलू आपूर्ति और वाणिज्यिक आयात पर पांच फीसदी जीएसटी लगता है। वहीं कोविड-19 के इलाज में इस्‍तेमाल होने वाली दवाओं और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स पर 12 फीसदी जीएसटी लागू है। वित्‍त मंत्री सीतारमण ने इन सामानों पर जीएसटी से छूट देने की मांग पर ट्वीट में जवाब दिया कि अगर वैक्‍सीन पर पूरे पांच फीसदी की छूट दे दी जाती है, तो टीका निर्माताओं को कच्चे माल पर दिए गए टैक्‍स की कटौती का लाभ नहीं मिलेगा। ऐसे में वे पूरी लागत को ग्राहकों से वसूलेंगे। जीएसटी लगने से विनिर्माताओं को आईटीसी लाभ मिलता है। अगर आईटीसी ज्‍यादा होता है, तो वे रिफंड का दावा कर सकते हैं। इसलिये जीएसटी से छूट दिए जाने पर उपभोक्ताओं को नुकसान होगा। वित्‍त मंत्री सीतारमण ने कहा कि अगर एकीकृत जीएसटी (IGST) के तौर पर किसी सामान पर 100 रुपये मिलते हैं, तो इसमें से केंद्रीय जीएसटी (CGST) और राज्य जीएसटी (SGST) के तौर आधी-आधी रकम दोनों के खाते में जाती है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget