मध्‍य जून तक हर पांच किमी पर मिलेगी कोविड केयर सुविधा

गोरखपुर

जून मध्य तक जिले में हर पांच किलो मीटर पर कोविड केयर की सुविधा मिलने लगेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद इस तैयारी में तेजी देखी जा रही है। डब्लूएचओ, नीति आयोग और मुंबई हाइकोर्ट द्वारा सराहे गए मुख्यमंत्री योगी के कोविड मैनजमेंट के फार्मूले (अग्रेसिव ट्रेस, टेस्ट एंड ट्रीट) से गोरखपुर में भी कोरोना संक्रमण का ग्राफ तेजी से गिरा है। इसे बरकरार रखने की जद्दोजहद शुरू है। अब इसकी युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू है। इसे तीसरे वेव की आशंका के मद्देनजर होने वाली तैयारियों की नजर से भी देखी जा रही है। 

माना जा रहा है कि यह संक्रमण का फैलाव रोकने व संक्रमितों की जान की सुरक्षा हर हाल में सुनिश्चित करने का प्रयास है। 

ब्लॉक स्तर पर ही ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की रणनीति

कोविड के सेकंड वेव में संक्रमण की रफ्तार तेज होने से ऑक्सीजन को मांग अचानक काफी बढ़ गई थी। अप्रैल माह के शुरुआती दिनों में गोरखपुर के गीडा में मोदी केमिकल्स और आरके ऑक्सीजन के प्लांटों में औसतन 2000 सिलेंडर ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा था। सरकार की पहल के बाद अब यहां ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता 8000 सिलेंडर प्रतिदिन की हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन से शनिवार को 40 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति मिली।

सरकार के निर्देश के बाद अब जिला प्रशासन 20 स्थानों पर ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगवाने की तैयारी में जुट गया है। यह आने वाले दिनों में ब्लॉक स्तर पर ही ऑक्सीजन की आपूर्ति की तैयारी है। हर नए कोविड अस्पताल में उनका खुद का ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट तैयार कराने की कोशिश जारी है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget