RBI गवर्नर ने किए अहम फैसले

छोटे कारोबारियों, KYC अपडेट कराने वालों और हेल्थ सेक्टर को दी बड़ी राहत


नई दिल्ली

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को Covid महामारी से लड़ने का बूस्‍टर दिया है। शक्तिकांत दास न सिर्फ कोरोना की दवाई और वैक्‍सीन के इंतजाम के लिए फंड देने की बात कही, बल्कि Loan न भर पा रहे लोगों को Restructuring 2.0 की संजीवनी दी, यानि उन्‍हें अब दोबारा Loan restructure कराने का मौका मिलेगा। इसके साथ ही RBI ने KYC अपडेट कराने का समय बढ़ा दिया है। कोरोना की दूसरी लहर से उबरने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत ने बुधवार को कुछ बड़े ऐलान किए। आइए आपको बताते हैं उनकी बैठेक की अहम बातें, जिनके बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है।

उन्होंने कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने के लिए इमरजेंसी हेल्थ सेक्टर को 50 हजार करोड़ के कर्ज देने का ऐलान किया है। यह कर्ज 31 मार्च 2022 तक के लिए उपलब्ध रहेगा।रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंकों को कोविड लोन बुक बनाने का भी निर्देश दिया। 

केवाईसी को लेकर भी रिजर्व बैंक ने बड़ी छूट देते हुए वीडियो केवाईसी और नॉन फेस टू फेस डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन को बढ़ावा देने को कहा। साथ ही समय सीमा भी 31 दिसंबर तक बढ़ा दी गई है। आरबीआई ने 25 करोड़ रुपये तक कर्ज लेने वाले व्यक्तिगत, छोटे उधारकर्ताओं को ऋण के पुनर्गठन का दूसरा मौका दिया, यदि उन्हें पहली बार में इस सुविधा का लाभ न लिया हो तो।एसएफबीएस के लिए 1,000 करोड़ का टीएलटीआरओ लाया जाएगा। इनके लिए 10 लाख प्रति ग्राहक की सीमा होगी। इनको  31 मार्च 2022 तक टर्म सुविधा मिलेगी। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget