SKMCH में भर्ती होना है तो साथ लाएं ऑक्सीजन

मुजफ्फरपुर                                                           

कोरोना की दूसरी लहर में अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन आदि की कमी आ रही है। बिहार के मुजफ्फरपुर में स्थित एसकेएमसीएच में कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज में कई तरह की दिक्कतें पेश आ रही हैं। इससे उनके परिजन भी बेबस हैं। गंभीर स्थिति में पहुंचने वाले मरीजों को भर्ती करने से पहले पूछा जाता है कि वे ऑक्सीजन साथ लेकर आए हैं या नहीं। जो मरीज के अपने साथ ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर नहीं आते हैं, उन्हें भर्ती नहीं किया जाता है। यदि मरीजों के ऑक्सीजन का स्तर कम है और उनके पास सिलेंडर नहीं है, तो उन्हें दूसरे अस्पताल जाने के लिए कहा जा रहा है। इसकी वजह बताई जा रही है कि कि कोविड वार्ड में ऑक्सीजन का फ्लो अच्छा नहीं है। ऑक्सीजन का फ्लो बढ़ाया नहीं जा सकता है। इस तरह के हालात तब हैं, जब सबसे अधिक ऑक्सीजन की सप्लाई एसकेएमसीएच में की जा रही है। सबसे अधिक रेमडेसिविर की सप्लाई भी इस अस्पताल में की जाती है। बावजूद कोरोना मरीजों को सुविधा नहीं दी जा रही है। एसकेएमसीएच में परिजन का इलाज करा रहे औराई निवासी राजन ने बताया कि सभी मरीजों को एक ही फ्लो में ऑक्सीजन दिया जाता है। चाहे मरीज अति गंभीर है या सामान्य है। कितना भी कहने पर उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है। फ्लो नहीं बढ़ाया जाता है। उलटे कहा जाता है कि आपके मरीज को ऑक्सीजन की आवश्यकता है, तो आप ऑक्सीजन लेकर आइए। जिला प्रशासन के रिकॉर्ड के अनुसार एसकेएमसीएच को सबसे अधिक ऑक्सीजन की सप्लाई की जाती है। यहां 350 से 400 सिलेंडर हर दिन मुहैया कराया जा रहा है। वैसे एसकेएमसीएच प्रबंधक का कहना है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार हुआ है, लेकिन जितना डिमांड है, उतना अब भी नहीं मिल रहा है। एसकेएमसीएच प्रबंधन के अनुसार यहां सबसे अधिक मरीज हैं। इसके हिसाब से यहां 500 सिलेंडर की आवश्यकता है। 

बैरिया के मरीज संतोष कुमार की गुरुवार की रात अचानक तबीयत बिगड़ने लगी। उसे चिकित्सकों ने एसकेएमसीएच जाने की सलाह दी। रात बारह बजे एसकेएमसीएच कंट्रोल रूम 0621-2231202 पर परिजनों ने फोन किया। कंट्रोल रूम में बैठे अधिकारी ने बताया कि यदि आपके पास सिलेंडर है तभी आइए, क्योंकि यहां ऑक्सीजन का फ्लो कम रहता है। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget