महापारेषण की 10 हजार करोड़ की योजना

दुर्गम इलाकों को अंधेरा मुक्त करने के प्रयास: राऊत

मुंबई

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राऊत ने महापारेषण को बिजली ग्राहकों को उचित दाब और अखंडित बिजली आपूर्ति करने के लिए अगले पांच साल में  विभिन्न स्थानों पर सब स्टेशन, हाई वोल्टेज विद्युत लाइन एवं अन्य विभिन्न कार्यों को स्थापित करने के निर्देश दिए हैं। ऊर्जा मंत्री ने महापारेषण द्वारा तैयार की गई पंचवर्षीय योजना की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मेलघाट जैसे दूरदराज के इलाकों में बिजली की आपूर्ति करने तथा दुर्गम इलाके का कोई भी गांव या बस्ती अंधेरे में नहीं रहे, इसके लिए विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए। 2019-20 से 2024-25 तक के पांच वर्षों में राज्य में कुल 87 हाई वोल्टेज बिजली सब स्टेशन स्थापित किए जाएंगे, जिससे क्षमता में 30,000 एमवीए की वृद्धि होगी। 10,707 किमी लंबी हाई प्रेशर लाइन का नया नेटवर्क बनाया जाएगा। इस पर 10 हजार 823 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। पंचवर्षीय योजना को महापारेषण और महावितरण के निदेशक संजय ताकसांडे ने प्रस्तुत किया। इस अवसर पर ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव दिनेश वाघमारे उपस्थित थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget