गणेशोत्सव 2021 के लिए गाइडलाइन

चार फीट से बड़ी मूर्ति नहीं  


मुंबई

पिछले साल की तरह इस साल भी कोरोना की वजह से गणेशोत्सव पाबंदियों के बीच मनाना पड़ेगा। उद्धव ठाकरे सरकार की तरफ से गणेश उत्सव 2021 के लिए गाइड लाइन जारी की गई है। इसके अनुसार सार्वजनिक और घरेलू मूर्तियों के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं। सरकार द्वारा घोषित दिशा-निर्देशों के अनुसार सार्वजनिक गणेश प्रतिमाओं की ऊंचाई 4 फीट और घरेलू गणेश प्रतिमाओं की 2 फीट होनी चाहिए।

संभव हो तो गणेशजी की मूर्ति के स्थान पर धातु या संगमरमर की मूर्तियों की पूजा करें, हो सके तो मूर्ति को घर में विसर्जित कर देना चाहिए। यदि यह संभव नहीं है, तो मूर्ति को पास के कृत्रिम विसर्जन स्थल में विसर्जित करना चाहिए। मंडप में इस बात का ध्यान रखा जाए कि पंडालों में भीड़ न लगे। स्वास्थ्य और सामाजिक संदेशों से संबंधित विज्ञापनों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बजाय स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियों या शिविरों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करनी चाहिए। 

आरती, भजन, कीर्तन या अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन करते समय सुनिश्चित करें कि भीड़ न हो। ध्वनि प्रदूषण नियमों का पालन किया जाना चाहिए। नागरिकों की भीड़ से बचने के लिए, केबल नेटवर्किंग, वेबसाइट, फेसबुक आदि के माध्यम से गणेश के दर्शन ऑनलाइन उपलब्ध कराने के लिए अधिकतम व्यवस्था की जानी चाहिए। गणपति मंडप में सैनिटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। 

आगमन व विसर्जन जुलूस नहीं निकलना चाहिए। विसर्जन के स्थान पर की जाने वाली आरती घर में ही करनी चाहिए। बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों को विसर्जन स्थल पर जाने से बचना चाहिए। गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए मनपा के सहयोग से विभिन्न बोर्ड, हाउसिंग सोसाइटी, जनप्रतिनिधि, गैर सरकारी संगठन, कृत्रिम सरोवर का निर्माण कराया जाए। कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार, स्वास्थ्य विभाग, नगर पालिका प्रशासन, स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा निर्धारित नियमों का पालन किया जाना चाहिए।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget