2024 तक राकांपा और होगी मजबूत बढ़ेगी विधायकों की संख्या


मुंबई

देश और राज्य की हर राजनीतिक पार्टियां चाहती हैं कि मुख्यमंत्री उनकी पार्टी का बनें, लेकिन जनता के आशीर्वाद के बिना यह संभव नहीं है। साल 2024 तक राकांपा के विधायकों की संख्या बढ़ेगी, जिसके लिए पार्टी का संगठन दिन-रात काम कर रहा है। यह विचार राकांपा प्रदेशाध्यक्ष और जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने व्यक्त किए. राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार की प्रमुख सहयोगी राकांपा का आज 22वां स्थापना दिवस है, पार्टी की स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर जयंत पाटिल ने यह बात कही।

पाटिल ने कहा कि कांग्रेस हमारी पुरानी सहयोगी दल है और रहेगी। अब शिवसेना के रूप में राकांपा को एक नया सहयोगी मिल गया है। राज्य में तीनों पार्टियों का गठबंधन भविष्य में भी जारी रहेगा। पाटिल ने कहा कि 2024 तक राकांपा और मजबूत होगी, साथ ही विधायकों की संख्या भी बढ़ेगी। पिछले 22 साल उतार-चढ़ाव का दौर रहा है। शरद पवार ने हमेशा महाराष्ट्र की राजनीति में अहम भूमिका निभाई है। इसके साथ पुराने गठबंधन में वे बहुत प्रभावशाली थे. पार्टी के वरिष्ठ नेता दिवंगत आर. आर. पाटिल को याद करते हुए जयंत पाटिल ने कहा कि शरद पवार ने उन्हें आगे बढ़ाया। इसीलिए शरद पवार की कार्यशैली का सभी नेता सम्मान करते हैं। कई लोग पार्टी में शामिल होना चाहते हैं, लेकिन कोरोना के कारण अभी उसे रोक दिया गया है। जयंत पाटिल ने यह पूछे जाने पर  कि क्या राकांपा का मुख्यमंत्री बनने की महत्वाकांक्षी नहीं है ? कहा कि घर पर बैठकर कोई महत्वाकांक्षा जाहिर करना उचित नहीं है। अगर पार्टी बेहतर काम करती है और अधिक विधायक चुनकर आते है तो सीएम पद को लेकर अंतिम फैसला पार्टी प्रमुख शरद पवार लेंगे। उन्होंने आगे कहा कि हमारी पार्टी का लक्ष्य महाराष्ट्र के नागरिकों की समस्याओं का समाधान करना है, लोगों के जीवन स्तर में सुधार करना है, जो लोग पार्टी छोड़ चुके हैं उन्हें वापस पार्टी में लाना है। राकांपा की कांग्रेस में विलय पर बार-बार चल रही चर्चा पर पाटिल ने कहा कि यह मुद्दा पिछले 22 साल से चल रहा है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget