ड्रूम के ओबीवी ने पार किया 500 मिलियन का आंकड़ा


नई दिल्ली

बाजार में ऑरेंज बुक वैल्यू (ओबीवी) को मिल रहे जबरदस्त प्रतिसाद के कारण भारत के सबसे बड़े और अग्रणी एआई-संचालित ऑनलाइन ऑटोमोबाइल मार्केटप्लेस ड्रूम ने मंगलवार को ऑरेंज बुक वैल्यू की नई उपलब्धि की घोषणा की। हर महीने प्राप्त होने वाले लगभग सात मिलियन प्रश्नों के साथ ओबीवी भारत का दूसरा सबसे बड़ा एआई और डेटा साइंस-आधारित एल्गोरिथम प्राइजिंग इंजन है, जिसने 2016 में लॉन्च होने के बाद से 500 मिलियन सवालों के आंकड़े को पार कर लिया है। ओबीवी 38 देशों, 7 मुद्राओं और 11 भाषाओं में उपलब्ध है। इसे पुराने वाहनों के लेनदेन से जुड़े बाजार में गेमचेंजर के रूप में देखा जाता है। इसके मूल्यांकन आधार में वाहन श्रेणियों का एक विस्तृत स्पेक्ट्रम को शामिल है- जिसमें कार, मोटरसाइकिल, स्कूटर, साइकिल और विमान शामिल हैं, जिसमें 100+ मेक, 1000+ मॉडल्स, 80,000+ यूनिक प्रोडक्ट और पिछले 18 से 20 वर्षों में निर्मित 4000+ वेरिएंट शामिल हैं। ओबीवी एडॉप्शन सर्वे के अनुसार लगभग 85% उत्तरदाताओं ने दावा किया कि वे बेचे जाने वाले वाहन की कीमत तय करने के लिए पूरी तरह से और पूरी तरह से ओबीवी पर निर्भर थे। ड्रूम के संस्थापक और सीईओ संदीप अग्रवाल ने कहा कि भारत के पुराने वाहनों के बाजार में तेजी से हो रहे शहरीकरण, उपभोक्ता की बदलती जरूरतों और इंटरनेट की बढ़ती पैठ के कारण डिजिटल टेक्नोलॉजी को तेजी से अपनाया जा रहा है। ओबीवी के लिए 500 मिलियन सवालों का आंकड़ा एक बड़ी उपलब्धि है। ओबीवी किसी भी इस्तेमाल किए गए वाहन का स्वतंत्र, उद्देश्यपूर्ण और निष्पक्ष उचित बाजार मूल्य प्रदान करता है और पुराने वाहनों के लिए खोज समय और खोज लागत को कम करता है।

 और खरीदना और बेचना बहुत आसान बना देता है। ओबीवी द्वारा की गई प्राइजिंग का अनुमान अब इंडस्ट्री का वास्तविक स्टैंडर्ड बन चुका है और खरीदारों, विक्रेताओं, हजारों ऑटो डीलरों और इतने सारे बैंकों, एनबीएफसी और बीमा कंपनियों द्वारा पूरी तरह से भरोसा किया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप इसकी अत्यधिक लोकप्रियता और स्वीकार्यता हो गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget