कोरोना से मरने वाले 50 फीसदी कर्मचारियों को नहीं मिली सहायता राशि

मुंबई

कोरोना काल में अपनी जान परवाह किए बिना दूसरो की जान बचाने में जुटे मनपा कर्मचारियों में 220 कर्मचारी कोरोना से अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना महामारी में लोगों को सुविधा देते समय जान गवांने वाले कर्मचारियों  के परिजनों को 50 लाख सहयता राशि देने का निर्णय लिया गया था। मनपा में कार्यरत 220 कर्मचारियों एव अधिकारियों की इस दौरान कोरोना से मौत हुई है।  मनपा के मृत कर्मचारियों में अभी तक 50 प्रतिशत कर्मचारियों को सहायता राशि नहीं मिल पाई है। अभी तक मात्र  96 मृत कर्मचारियों के परिजनों को ही 50 लाख रुपए की आर्थिक मदद मिल सकी है। बता दें कि मनपा के सफाई, स्वास्थ्य, सड़क व जल विभाग के 220 अधिकारी व कर्मचारी ड्यूटी के दौरान कोरोना के संक्रमण में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। इनमें से सिर्फ 96 मृत कर्मचारियों के परिजनों को कोरोना कवच बीमा का 50 लाख रुपए मिल सका है। बाकी अन्य मृतकों के परिजनों को अब भी बीमा का लाभ मिलने का इंतजार है। मनपा के  एक अधिकारी ने बताया कि बीमा लाभ दिलाने के लिए कई शर्तों का पालन करना पड़ता है। इसमें राज्य सरकार व केंद्र सरकार के कई नियम हैं। साथ ही मृत कर्मचारी के विभाग से सिफारिश आती है। मृत कर्मचारी के  कागजात मंगाए जाते हैं। फिर जांच- पड़ताल के लिए फाइल को कमेटी के पास भेजा जाता है, जिसके चलते समय लग रहा है। केंद्र ने सिर्फ स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को ही सहायता राशि देने का निर्णय लिया है, जिसके चलते बकाया कर्मचारियों को मनपा की ओर से सहायता राशि दी जाएगी। 220 मृत मनपा  कर्मचारियों में से 147 की फाइल केंद्र सरकार के पास भेजी गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget