देश में मेड इन इंडिया 5-जी नेटवर्क

एयरटेल और टीसीएस ने मिलाया हाथ

5G

नई दिल्ली

भारत में 5-जी नेटवर्क को विकसित करने के लिए भारती एयरटेल और टाटा समूह ने हाथ मिलाया है। दोनों ने सोमवार को इस साझेदारी की घोषणा की। कंपनी ने बयान जारी कर कहा कि एयरटेल भारत में अपनी 5-जी योजनाओं को अमल में लाने के लिए स्वदेशी तरीके से काम करेगी। साथ ही भारत सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए साल 2022, जनवरी तक पायलट योजना शुरू की जाएगी।

खुलेंगे निर्यात के अवसर

कंपनी का दावा है कि ये ‘मेड इन इंडिया’ 5-जी उत्पाद और समाधान वैश्विक मानकों के अनुरूप हैं। इसके इंटरफेस और ओरान एलायंस अन्य उत्पादों के साथ इंटरऑपरेट करते हैं। 5- जी नेटवर्क के जरिए एयरटेल दोबारा खुद को साबित करेगा। ये भारत के लिए निर्यात के अवसर भी खोलेगा। यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा दूरसंचार बाजार बन गया है, आने वाले दिनों में देश और प्रगति करेगा।

भारती एयरटेल के एमडी और सीईओ (भारत और दक्षिण एशिया) गोपाल विट्टल ने कहा कि हम भारत को 5-जी और संबद्ध प्रौद्योगिकियों के लिए वैश्विक केंद्र बनाने के लिए टाटा समूह के साथ जुड़कर खुश हैं। हम अपने विश्व स्तरीय प्रौद्योगिकी पारिस्थितिकी तंत्र और प्रतिभा के साथ दुनिया के लिए अत्याधुनिक समाधान और अनुप्रयोग बनाने के लिए अच्छी तरह से तैयार है। यह भारत को एक बड़े पैमाने पर विनिर्माण के क्षेत्र में आगे बढ़ने में मदद करेगा।

टाटा समूह/टीसीएस केएन गणपति सुब्रमण्यम ने कहा कि एक समूह के रूप में, हम 5-जी और उससे जुड़ी संभावनाओं को लेकर उत्साहित हैं। हम नेटवर्किंग के क्षेत्र में इन अवसरों का समाधान करने के लिए एक विश्व स्तरीय नेटवर्किंग उपकरण और समाधान व्यवसाय बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम इस पहल में एयरटेल के साथ साझेदारी से खुश हैं। मालूम हो कि एयरटेल ओ-आरएएन गठबंधन का एक बोर्ड सदस्य है और भारत में ओ-आरएएन आधारित नेटवर्क का पता लगाने और लागू करने का काम करता है। इस साल की शुरुआत में, एयरटेल ने हैदराबाद शहर में अपने लाइव नेटवर्क पर 5-जी का प्रदर्शन किया था। कहा जाता है कि ऐसा करने वाली यह भारत की पहली दूरसंचार कंपनी थी। कंपनी ने दूरसंचार विभाग द्वारा आवंटित स्पेक्ट्रम का उपयोग करते हुए प्रमुख शहरों में 5-जी परीक्षण शुरू किया है।

जनवरी 2022 से होगा उपलब्ध

टाटा समूह ने बयान में यह भी कहा कि अत्याधुनिक ओ-आरएएन आधारित रेडियो और एनएसए/एसए कोर को विकसित किया गया है। इसमें भागीदार कंपनी की मदद से पूरी तरह से स्वदेशी दूरसंचार स्टैक को एकीकृत किया गया है। जनवरी 2022 से ये वाणिज्यिक विकास के लिए उपलब्ध होगा।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget