कोरोना पर '5 का पंच'

जल्द आएगा फाइजर का टीका

vaccine

नई दिल्ली

कोरोना से जंग में देश को अब तक 4 वैक्सीन मिल चुकी हैं। कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पूतनिक के बाद मंगलवार को मॉडर्ना के टीके को भी मंजूरी दे दी गई। यही नहीं, जल्दी ही भारत को फाइजर का टीका भी मिल सकता है। नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने यह जाानकारी दी। उन्होने कहा, 'हमारे पास अभी कोवैक्सिन, कोविशील्ड, स्पूतनिक-वी और मॉडर्ना वैक्सीन उपलब्ध हैं। जल्दी ही हम फाइजर से भी टीके के लिए डील फाइनल कर लेंगे।' इसके अलावा गर्भवती महिलाओं पर टीके के असर को लेकर भी उन्होंने भ्रम को दूर किया। 

वीके पॉल ने कहा कि गर्भवती महिलाओं को कोरोना वैक्सीन से कोई रिस्क नहीं है। उन्हें यह टीका जरूर लगाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने गर्भवती महिलाओं के लिए वैक्सीनेशन से जुड़ी गाइडलाइंस भी जल्दी ही रिलीज करने की बात कही।  उन्होंने कहा कि अब तक भारत में मौजूद 4 वैक्सीन्स स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सेफ हैं। इसके अलावा टीके के चलते प्रजनन की क्षमता कम होने की अफवाहों को भी उन्होंने खारिज किया। वीके पॉल ने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है। वहीं मॉर्डना को लेकर उन्होंने कहा कि यह पहली इंटरनेशनल वैक्सीन है। हालांकि अभी इसका इस्तेमाल सीमित ही रहेगा। 

इसके अलावा कोरोना के नए डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर भी वीके पॉल ने राहत भरी खबर दी। पॉल ने कहा कि फिलहाल देश में 51 मामले हैं। बता दें कि बीते सप्ताह इस वैरिएंट के 50 केस मौजूद थे।

 इस लिहाज से देखें तो इसके संक्रमण की गति फिलहाल थमी हुई है। वहीं वैक्सीनेशन की बात करें तो देश की 27 करोड़ से ज्यादा आबादी को कोरोना टीके की पहली डोज लग चुकी है। इसके अलावा 5.84 करोड़ लोग ऐसे हैं, जिन्हें दोनों टीके लग चुके हैं। हेल्थ मिनिस्ट्री के जॉइन सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि भारत में पीक के बाद से लगातार गिरावट का दौर बना हुआ है। देश के तमाम जिलों में लगातार कोरोना के केसों में कमी आ रही है। 

कोरोना की हालत दयनीय

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मामलों का जो पीक था उसमें 91 फीसदी की गिरावट हुई है। लव अग्रवाल ने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों से मामलों में लगातार कमी हो रही है। देश में रिकवरी दर 96.9 फीसदी पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि जिन जिलों में रोज 100 से ज्यादा नए केस आ रहे थे, जहां 4 मई के हफ्ते में ऐसे जिले 531 थे, वो संख्या 2 जून को घटकर 262 जिले रह गई और अब 111 जिले ही ऐसे हैं जहां रोज 100 से ज्यादा मामले आ रहे हैं। अग्रवाल ने बताया कि विगत 21 से 28 जून तक कोविड-19 टीकों की औसत 57.68 लाख खुराक प्रतिदिन बांटी जा रही हैं।  एक मई से 24 जून तक कोविड-19 टीके की 56 प्रतिशत खुराक ग्रामीण क्षेत्रों में जबकि 44 प्रतिशत शहरी क्षेत्रों में दी गई है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget