इकोनॉमी को 6.29 लाख करोड़ का बूस्टर डोज

कोरोना प्रभावित सेक्टर्स के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपए की गारंटीड स्कीम

nirmala sitharaman

नई दिल्‍ली

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड से प्रभावित अर्थव्यवस्था को तेजी लाने के लिए कई आर्थिक घोषणाएं की हैं। इसमें कुछ नई योजनाएं शामिल हैं। वहीं कुछ पुरानी योजनाओं का विस्तार किया गया है। नए आर्थिक पैकेज में कोविड से प्रभावित सेक्टर्स के लिए नई घोषणाएं की गई हैं। वित्त मंत्री ने कुल 6,28,993 करोड़ रुपए के आर्थिक राहत की घोषणा की है। इसमें कोरोना प्रभावित सेक्टर्स के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपए की गारंटीड स्कीम शामिल है।  

ईपीएफओ स्कीमः मियाद 2022 तक

वित्‍त राज्‍य मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को 31 मार्च 2022 तक बढ़ाया गया है। ईपीएफओ स्कीम की मियाद भी 31 मार्च 2022 तक बढ़ाई जा रही है। यानि सरकार नए नौकरीपेशा के पीएफ कंट्रीब्यूशन में कंपनी का हिस्‍सा भी देगी। इसके साथ ही मंत्री ने न्यूट्रिएंट आधारित उद्योगों के लिए सब्सिडी का एलान भी किया। 

अनुराग ठाकुर ने बताया कि पीकेजीकेएवाय की मियाद बढ़ा दी गई है। इसके तहत 2,27,841 करोड़ का खर्च आएगा। इसके अंतर्गत गरीब और असहाय लोगों को शामिल किया जाएगा। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को नौकरी के मौके बढ़ाने के लिए लांच किया गया था। इसे भी 1 मार्च 2022 तक बढ़ाया गया है। 80 हजार कंपनियों के 21.4 लाख लोगों को इससे फायदा हुआ है। वित्‍त राज्‍यमंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि 60 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान दूसरे सेक्‍टर के लिए होगा। कोविड से ठप पड़े उद्योगों को कुल मिलाकर 1.1 लाख करोड़ की लोन गारंटी स्कीम मिलेगी।

5 लाख लोगों के लिए क्रेडिट गारंटी स्कीम 

सीतारमण ने कहा कि 8 में से 6 एलान एकदम नए हैं। 25 लाख लोगों के लिए क्रेडिट गारंटी स्कीम है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget