भारतीय छात्रों को मदद करते हैं एजुकेशनल ऐप्स: सर्वे


मुंबई

भारतभर के अधिकांश क्षेत्रों में इस समय ग्रीष्मकालीन स्कूल अवकाश चल रहे हैं। इस दौरान भारतीय स्टूडेंट्स छुट्टियों के लिए मिले होमवर्क को हल करते समय किस तरह की लर्निंग प्रैक्टिसेस अपनाते हैं और किस तरह की चुनौतियों का सामना करते हैं यह जानने के उद्देश्य से दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म ब्रेनली ने एक सर्वेक्षण किया। छात्र अपनी लर्निंग की यात्रा को पूरा करने के लिए एजुकेशनल ऐप्स और ऑनलाइन संसाधनों पर तेजी से भरोसा कर रहे हैं इस बात का खुलासा इस सर्वेक्षण से हुआ है। कुल 1,758 प्रतिक्रियाओं को एकत्रित करते हुए किए गए ऑनलाइन सर्वेक्षण में 77 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि वे अपने छुट्टियों के होमवर्क को लेकर अपने प्रश्नों को हल करने और शंकाओं को दूर करने एजुकेशन ऐप्स को मददगार पाते हैं। 

यह नतीजा बताता है कि स्टूडेंट के जीवन में इस तरह के प्लेटफॉर्म की भूमिका कितनी बढ़ चुकी है। यह पूछे जाने पर कि किन विषयों में सबसे ज्यादा मदद की जरूरत है, एक तिहाई छात्रों ने गणित (33%), उसके बाद अंग्रेजी (17%) और विज्ञान (15%) को चुना।सर्वेक्षण में यह भी पाया गया कि स्टूडेंट्स छुट्टियों के लिए मिले अपने होमवर्क में मदद पाने के लिए ब्रेनली और उसके जैसे अन्य ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म (28%) का उपयोग कर रहे हैं।ब्रेनली के मुख्य प्रोडक्ट ऑफिसर राजेश ब्यासनी ने कहा कि हमारे सर्वेक्षण का उद्देश्य महामारी के मद्देनजर भारत के स्कूली शिक्षा परिदृश्य में विकसित हो रहे ट्रेंड्स को पकड़ना है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget