देश विरोधी ताकतों का समर्थन न करे शिवसेना: पाटिल

chandrakant patil

मुंबई 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के खिलाफ कांग्रेस और देश विरोधी ताकत लगातार मुद्दे उठा रहे हैं, शिवसेना को उनका समर्थन नहीं करना चाहिए। उन्होंने शिवसेना भवन के समक्ष हुई घटना पर चेतावनी देते हुए कहा कि आप कुछ भी लिखो और कोई रोष भी व्यक्त नहीं करे, ऐसी दादागिरी नहीं चलेगी।

पुणे में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पाटिल ने कहा कि पांच सौ साल के संघर्ष के बाद अयोध्या में श्रीराम की जन्मस्थली पर भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। कांग्रेस और देश विरोधी ताकतें इसे रोकने के लिए रोज नए-नए मुद्दे उठाने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन खुद को राष्ट्रवादी कहने वाली शिवसेना उनका समर्थन कैसे करती है?  

उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा भाजपा या विश्व हिंदू परिषद या मंदिर ट्रस्ट का नहीं, बल्कि सभी हिंदुओं का है। हमें लगता है कि अगर कोई इसके बारे में कुछ भी आपत्तिजनक कहता है, तो हमें प्रतिक्रिया देनी चाहिए, लेकिन शिवसेना को ऐसा नहीं लगता। आपने हिंदुत्व छोड़ दिया। सामना के माध्यम से आपने निराधार टिप्पणी की, तो क्या रोष भी व्यक्त नहीं करे? कार्यकर्ता अनुमति लेकर शिवसेना भवन के बाहर प्रदर्शन भी नहीं करें?  ऐसी दादागिरी नहीं चलेगी। उन्होंने याद दिलाया कि कांग्रेस पार्टी ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया था और शिवसेना ने भी विरोध में बड़ा बैनर लगाया था।  

उन्होंने कहा कि मराठा आरक्षण कानून लागू होने के चलते जिन उम्मीदवारों की सरकारी नौकरी की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, उन्हें नियुक्ति पत्र जारी करना और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करना अत्यावश्यक है। साथ ही जब तक मराठा समुदाय को दोबारा आरक्षण नहीं मिल जाता, तब तक देवेंद्र फड़नवीस सरकार द्वारा दी गई रियायतें भी दी जानी चाहिए। उन्होंने छत्रपति उदयन राजे भोसले के नेतृत्व में मराठा आरक्षण के आंदोलन के लिए भाजपा के समर्थन की घोषणा की। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget