डिप्लोमा दूसरे वर्ष में प्रवेश की पात्रता में बदलाव

भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित जैसे विषयों की शर्त खत्म  

uday samant

मुंबई 

शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए द्वितीय वर्ष के इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक योग्यताओं में परिवर्तन किया गया। उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तीन विषयों में से किसी एक में बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को सीधे दूसरे वर्ष के इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाएगा।

इसके पहले भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित या जीव विज्ञान जैसे अनिवार्य विषयों में से किसी एक में बारहवीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण होने की शर्त थी। अब इसमें बदलाव किया गया है। शैक्षणिक वर्ष 2021-22 से  भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी,  जीव विज्ञान, सूचना विज्ञान अभ्यास, जैव प्रौद्योगिकी, तकनीकी व्यावसायिक विषय, कृषि, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, बिजनेस स्टडीज, एंटरप्रोनरशिप जैसे विषयों में कोई भी तीन विषय लेकर 12वीं परीक्षा उत्तीण करने वाले छात्रों को सीधे इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाएगा।

विवादित सीमा क्षेत्र के छात्रों को राहत

सामंत ने कहा कि महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा के विवादित क्षेत्रों के उम्मीदवारों को आवेदन करते वक्त प्रमाण पत्र लगाना पड़ता था कि वे विवादित सीमा क्षेत्र से हैं। ऐसे उम्मीदवारों को विवादित सीमा क्षेत्र शब्द के कारण कर्नाटक राज्य में सक्षम अधिकारियों से प्रमाण पत्र प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। अब सरकार ने विवादित शब्द को प्रमाण पत्र से हटा दिया है, जिससे सीमा से छात्रों के लिए यह आसान हो गया जाएगा।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget