अजित पवार के साथ शपथ लेना हमारी चूक

समर्थकों और कार्यकर्ताओं में कोई नाराजगी नहीं      80 घंटे की सरकार पर फड़नवीस का बड़ा खुलासा


मुंबई

राज्य के पूर्व सीएम और विधानसभा में नेता विपक्ष देवेंद्र फड़नवीस ने 2019 में राकांपा नेता अजित पवार के साथ मिलकर बनाई गए सरकार पर बड़ा खुलासा किया है। शुक्रवार को एक साक्षात्कार में फड़नवीस ने कहा कि अजित पवार के साथ मिलकर 80 घंटे के लिए सरकार बनाने का निर्णय गलत था। 

पूछे गए एक सवाल पर कि क्या अजित पवार के साथ लिए गए शपथ के कारण भाजपा और आपकी प्रतिमा मलिन हुई है, के जवाब में उन्होंने कहा कि यह सही है कि प्रतिमा मलिन हुई है लेकिन उसका पश्चाताप नहीं है, क्योंकि जब आपके पीठ पर कोई खंजर से वॉर करता है तो उसे जवाब देने के लिए राजनीति में आपका जिंदा रहना बहुत जरूरी होता है।

फड़नवीस ने आगे कहा कि अजित पवार के साथ सरकार बनाने के बाद कार्यकर्ताओं और समर्थकों के बीच हमारी और पार्टी की छबि खराब नहीं हुई है। सीएम पद को लेकर हमारे और शिवसेना के बीच जारी खींचतान के बीच अजित पवार ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने का प्रस्ताव रखा था, जिसे मान्य करते हुए हमने उनके साथ शपथ लिया। लेकिन सरकार बनने के चार दिन, यानी 80 घंटे के बाद भी अजित पवार संख्या बल नहीं जुटा पाए, जिसके कारण हमारी सरकार गिर गई। अजित पवार के साथ जाकर हमने गलती की थी।  

पहली मुलाकात में उद्धव ठाकरे ने सभी पर्याय खुले रखे थे

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने को लेकर भाजपा से कहां चूक हुई, के जवाब में फड़नवीस ने कहा कि चुनाव के दौरान जब उद्धव ठाकरे से पहली मुलाकात हुई थी तब उन्होंने सरकार बनाने के लिए सभी पर्याय खुले होने की बात कही थी। उस समय हमारे मन में उद्धव ठाकरे को लेकर कोई ऐसी शंका नहीं थी। सरकार स्थापित करने के लिए प्रधानमंत्री  राजनीति में नहीं उतरते है। लेकिन गृहमंत्री अमित शाह 24 घंटे पूरे सप्ताह चर्चा में शामिल थे। कभी-कभी ऐसा होता है कि हम अच्छा करने जाते हैं और बुरा हो जाता है। कांग्रेस पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि हमने उनका इतिहास देखा है। किसी पार्टी के साथ उनकी सरकार ज्यादा दिन तक नहीं चलती, लेकिन अब देखना है राज्य में क्या होता है। हमने राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाने की गलती की, लेकिन कांग्रेस के साथ शिवसेना का जाना मतलब राज्य में अनैतिक सरकार चल रही है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget