हमें लॉकडाउन और नॉकडाउन दोनों नहीं चाहिएः उद्धव ठाकरे


मुंबई

कोविड के संदर्भ में रविवार को प्रमुख उद्योगपतियों से बातचीत करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमें लॉकडाउन और नॉकडाउन दोनों नहीं चाहिए, ऐसे में नियमों का पालन करना बेहद जरूरी है। कोरोना काल में संपूर्ण महाराष्ट्र ने सावधानी रखकर उद्योग चलाकर दिखाए, ऐसा मॉडल संपूर्ण देश के सामने रखना है।

सांप भी मर जाए, लाठी भी न टूटे  

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम अनलॉक करते समय कैलकुलेटेड रिस्क ले रहे हैं। ऐसे में सावधान रहें। एकदम से कुछ भी शिथिल नहीं किया है। इसके लिए कुछ मापदंड और स्तर बनाए गए हैं। 

स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन तय करेगा कि पाबंदियों में ढील दी जाए या कड़ा किया जाए। हमें ऐसा काम करना है कि सांप भी मर जाए और लाठी भी नहीं टूटे।

मजदूरों का रखें विशेष ध्यान

उन्होंने निर्माण कार्य मजदूरों तथा अन्य राज्यों के मजदूरों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की अपील की। उनके अपने राज्य जाते वक्त या यहां आते समय परिवार के सदस्य की तरह जानकारी रखें। यदि मजदूर दूसरे राज्यों से आ रहे हैं तो उनके आइसोलेशन की व्यवस्था की जाए।

ये थे बैठक में उपस्थित

बैठक में उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, सीआईआई के पदाधिकारी उदय कोटक, संजीव बजाज, बी त्यागराजन, डॉ नौशाद फोर्ब्स, अमित कल्याणी, अशोक हिंदुजा, एएन सुब्रमण्यम, डॉ अनीश शाह, अजय पीरामल, बनमाली अग्रवाल, हर्ष गोयनका, सुनील माथुर, उज्जवल माथुर, संजीव सिंह, बोमन ईरानी, निरंजन हीरानंदानी, जेन करकेड़ा, असीम चरनिया, सुलज्जा फिरोदिया ने भाग लिया। इसके अलावा टास्क फोर्स के अध्यक्ष डॉ. संजय ओक, डॉ. शशांक जोशी, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह एवं अन्य उपस्थित थे। 

कोरोना से मौत का आंकड़ा एक लाख के पार

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण से 230 और लोगों की मौत के साथ कुल मौत आंकड़ा एक लाख को पार गया है। राज्य में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 12,557 नए मामले सामने आए। स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार राज्य में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 5,831,781 पहुंच गया है। वहीं, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 14,433 लोग ठीक भी हुए हैं।

बता दें कि पिछले तीन महीने में आज पहला ऐसा दिन है जब कोरोना वायरस के इतने कम मामले सामने आए हैं। इससे पहले 9 मार्च को राज्य में कोरोना वायरस के 12000 से कम मामले सामने आए थे, तब 9927 नए केस दर्ज हुए हैं। महाराष्ट्र देश का पहला ऐसा राज्य है जहां कोरोना वायरस से एक लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

उद्योगपतियों ने क्या कहा?

उद्योपगतियों ने प्रतिबंध और लेवल के निर्णय की सराहना की। इस बारे में जनजागृति पैदा करने की बात भी कही गई। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण रोकने में मदद करने का आश्वासन दिया। सड़कों से पुलिस के चेकपोस्ट हटाने की बात कहीं गई, ताकि ट्रैफिक में रूकावट न हो। मुंबई के संबंध में उनका कहना था कि शहर बहुत बड़ा है, ऐसे में आगे से छोटे-छोटे कंटेमनेंट जोन बनाने पर जोर दिया जाए। आईटी क्षेत्र में वर्क फ्रॉम होम को अगले कुछ माह तक जोर बढ़ाया जाए। उद्योग व कारखानों में कर्मचारियों की टीकाकरण और टेस्टिंग का वर्गीकरण किया जाए।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget