आलू या शकरकंद : कौन है ज्यादा फायदेमंद?


आलू बनाम शकरकंद  दोनों दिखते एक जैसे हैं, लेकिन ये न केवल स्वाद में अलग होते हैं, बल्कि इन दोनों के सेहत को मिलने वाले फायदों में भी अंतर है। कंद कह लो सब्जी कह लो कोई फर्क नहीं पड़ता ये दोनों ही नामों से जाना जाता है। रोजाना इनसे अलग-अलग तरह की डिश तैयार करना आसान है। मसलन ये सब सब्जियों में चल जाते हैं। विशेषकर आलू, लेकिन फिर भी दोनों का मिजाज अलग-अलग है। आइए जानते हैं कैसे और क्यों?

फर्क जानिए:

जब सब्जियों की बात आती है, जिसे अनेक तरह के पकवान बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है तो इस लिस्ट में आलू का नाम सबसे ऊपर आता है। यह स्वादिष्ट, बनाने में आसान और हेल्दी भी है। वहीं शकरकंद भी आलू की एक मशहूर किस्म है। यह स्टार्चयुक्त और मुलायम जड़ वाली सब्जी है और इन्हें अनेक तरह के मीठे और नमकीन पकवान बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है। ये दोनों ही सब्जियां एक-दूसरे से अलग हैं। हम नीचे दिए गए ५ तरीकों से ये अंतर जान सकते हैं।

प्लांट फैमिलीः

शकरकंद पौधों के कॉन्वाल्वुलेसी फैमिली से आते हैं, जबकि अक्सर हर घर में रोजाना इस्तेमाल में आने वाला आलू सोलैनेसी पौधा फैमिली का होता है। शकरकंद की स्किन हल्की लाली लिए हुए भूरी और अंदर से इसका गूदा हल्का ऑरेंज कलर का होता है। वहीं आलू की स्किन बाहर से भूरी और अंदर से उसका गूदा सफेद होता है।

न्यूट्रिशनः

आलू और शकरकंद दोनों में कार्ब, वसा, प्रोटीन और कैलोरी की मात्रा समान होती है। शकरकंद 

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जबकि आलू में 



Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget