जाली नोट बानाने वाली गैंग का पर्दाफाश

बाराबंकी

अयोध्या में जाली नोट बनाकर बाराबंकी, सुलतानपुर, अमेठी, रायबरेली, लखनऊ और अयोध्या में सप्लाई की जाती थी। जाली नोट बनाने वाले गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर पुलिस ने दो लाख 11 हजार रुपए के जाली नोट बरामद किए हैं। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने पुलिस लाइन में यह जानकारी देते हुए बताया कि सतरिख पुलिस ने बीजेमऊ नहर पुलिया के पास ग्राम गोकुलपुर से चार तस्करों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि अयोध्या के पटरंगा थाना के शिवशंकर वर्मा दिवाली चौराहा पर जनसेवा केंद्र चलाता है। लैपटाप में लगे स्कैनर से असली भारतीय मुद्रा की 500 व 2000 रुपये की नोट को स्कैन कर लेते हैं।

लैपटाप में अपलोड साफ्टवेयर के माध्यम से असली भारतीय मुद्रा की तरह ही नकली नोट का प्रिंट करके नकली नोटों को निकाल लेते थे। सौरभ तिवारी व रितिक 500 व 2000 रुपये के नकली नोटों को मार्केट में खपाते थे। तीस हजार नकली नोटों के बदले 10 हजार रुपये लेते थे। यह अयोध्या, बाराबंकी, लखनऊ, अमेठी, सुलतानपुर आदि जनपदों में सप्लाई करते थे। लखनऊ के आलमबाग के मकान नंबर 569च/104क/10 प्रेमनगर के बीएससी पास सौरभ तिवारी, अयोध्या के रुदौली थाना के ग्राम सूजागंज के शिवशंकर वर्मा, थाना पटरंगा के ग्राम सुलेमानपुर के मो. अलीम क्रमश: इंटर और आइटीआइ कर चुके हैं। इनके अलावा के सूजागंज के रितिक मिश्रा को भी पुलिस ने पकड़ा है। उनके पास से पुलिस ने दो लाख 11 हजार रुपए के जाली नोट, लैपटाप, चार्जर, माऊस, की-बोर्ड, प्रिंटर स्कैनर, चार मोबाइल, सादा कागज, दो बाइक बरामद किया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget