‘भारत अफगानिस्तान में चाहता है स्थायी संघर्ष विराम’


नई दिल्ली

भारत ने मंगलवार को कहा कि वह अफगानिस्तान में स्थायी और व्यापक संघर्ष विराम चाहता है, ताकि वहां हिंसा में तत्काल कमी हो और असैन्य नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। अफगानिस्तान के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चर्चा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि इस मुल्क में टिकाऊ शांति के लिए देश के अंदर और आसपास के क्षेत्र में शांति की जरूरत है। गौरतलब है कि तालिबान और अफगानिस्तान 19 वर्षों के गृह युद्ध को समाप्त करने के लिए बातचीत कर रहे हैं, जिसमें हजारों की संख्या में लोग मारे गए। भारत, अफगानिस्तान की शांति एवं स्थिरता में महतवपूर्ण साझेदार है। भारत ने वहां विकास कार्यो में करीब तीन अरब डॉलर निवेश किया है। भारत-अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता का अहम हितधारक है तथा राष्ट्रीय शांति व ऐसी सुलह प्रक्रिया का समर्थन करता है, जो अफगान नेतृत्व वाली, अफगानों के स्वामित्व वाली और अफगान नियंत्रित हो। वहीं, 11 सितंबर तक करीब 2300 से 3500 अमेरिकी सैनिक और सहयोगी नाटो के 7000 सैनिक अफगानिस्तान से वापस जाने की तैयारी कर रहे हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget