अंतरराज्यीय गिरोह ऑक्सीजन-दवा की कर रहा कालाबाजारी

 भागलपुर

ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में अंतरराज्यीय गिरोह काम कर रहा है। मामले में दिल्ली पुलिस घोघा के पक्कीसराय की रहने वाली महिला सरिता देवी को ट्रांजिट रिमांड पर ले गई। महिला को रविवार को कोर्ट में पेश किया गया। दिल्ली पुलिस ने 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड देने का आग्रह किया था, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर रिमांड दे दिया। 

जांच में यह भी पता चला है कि कालाबाजारी के पैसे कर्नाटक स्थित किसी शहर के बैंक खाते में ट्रांसफर किया गया। वहां से फिर महिला सरिता देवी और अन्य के खाते में भेजा गया। कोर्ट में महिला को साथ लेकर पहुंचे दिल्ली के द्वारका स्थित साइबर क्राइम यूनिट के स्पेशल सेल के एसआई करमवीर ने बताया कि इस कालाबाजारी रैकेट में 15 से 20 लोग हो सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि सरिता देवी और उसके परिजनों के बैंक खाते में करोड़ों रुपए ट्रांसफर किए गए। 

दिल्ली पुलिस ने ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले की जांच शुरू की तो पला चला कि घोघा की सरिता देवी के खाते में 90 लाख, उसकी बहन पिंकी देवी के खाते में 44 लाख और उसके परिवार के तीन अन्य सदस्यों के नाम से खुले खाते में करोड़ों रुपए ट्रांसफर किए गए हैं। जांच में यह भी पता चला कि खाते में आए पैसे एटीएम से निकाले भी जा रहे थे। पटना स्थित एटीएम से पैसे निकाले जाने की बात सामने आ चुकी है। इस रैकेट में शामिल अन्य लोगों की तलाश भी पुलिस कर रही है। 

गिरफ्तार किए जाने के बाद कोर्ट मंे लाई गई घोघा पक्की सराय की सरिता देवी ने बताया कि उसके पांच बच्चे हैं और उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। वह मजदूरी करती है। उसने बताया कि उसके भाई राहुल के दोस्त अमित रोशन ने उसे बताया कि वह कुछ काम करता है, जिसके लिए बैंक खातों की जरूरत है। अमित ने महिला को प्रलोभन दिया कि बैंक खाता का पासबुक और एटीएम कार्ड उसे दे देगी तो हर महीने उसे एक हजार रुपए देगा। महिला का कहना है कि खाता खुलवाकर अमित ने अपने पास रख लिया। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget