जीएसटी काउंसिल में मंत्री समूह की सिफारिश मंजूर

कोरोना से लड़ाई होगी आसान


मुंबई 

कोरोना के इलाज में काम में आने वाली दवा, वैक्सीन, उपकरण आदि पर जीएसटी माफ करने के संबंध में बनी उपमुख्यमंत्री अजित पवार की भागीदारी वाली राष्ट्रीय स्तर के मंत्रियों के समूह की सिफारिशों को 44वीं जीएसटी काउंसिल की बैठक में मंजूरी प्रदान की गई। ऐसे में अब ऑक्सीजन और संबंधित सामग्री पर जीएसटी 12 फीसदी के बजाय पांच फीसदी लगेगा। कोविड से संबंधित अधिकांश सामग्री पर टैक्स घटाकर पांच प्रतिशत करने से कोरोना का इलाज सस्ता करने में मदद मिलेगी। जीएसटी काउंसिल की तरफ से मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया के लिए उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने केंद्रीय वित्त मंत्री तथा जीएसटी काउंसिल की अध्यक्ष निर्मला सीतारमण और सदस्यों का आभार प्रकट किया है।

इस तरह मिली जीएसटी में छूट 

कोरोना की दवा और इंजेक्शन

रेमडेसिविर पर 12 फीसदी के बजाय पांच फीसदी,  टोसिलिजुमैब, अम्फोटेरिसिन बी पर पांच फीसदी के बजाय शून्य, हेपेरिन जैसी एंटी कोगुलैंट्स पर 12 फीसदी के बजाय पांच प्रतिशत,  एमओएचएफडब्ल्यू और औषधि विभाग (डीओपी) द्वारा सुझाई गई कोई अन्य दवा पर पांच प्रतिशत।

ऑक्सीजन, उपकरण, मेडिकल डिवाइस

मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर/ जनरेटर, उनके व्यक्तिगत आयात, वेंटिलेटर, वेंटिलेटर मास्क/ कैनुला/ हेलमेट, बाइपैप मशीन, हाई फ्लो कैनुरा (एचएफएनसी) डिवाइस पर 12 प्रतिशत के बजाय पांच प्रतिशत। 

परीक्षण किट और मशीन

कोविड परीक्षण किट, निर्दिष्ट सूचन निदान किट, नाम- डी- डाइमर, आईएल-6, फेरिटीन और एलडीएच पर 12 फीसदी के बजाय पांच प्रतिशत जीएसटी।  

कोविड-19 से संबंधित अन्य राहत सामग्री

पल्स ऑक्सीमीटर, उनके व्यक्तिगत आयात पर 12 से पांच प्रतिशत, हैंड सैनिटाइजर और तापमान जांचने के उपकरण, श्मशान के लिए गैस/ विद्युत/ अन्य से चालित भट्टियां, उनके इंस्टॉलेशन पर 18 प्रतिशत से पांच प्रतिशत तथा एंबुलेंस पर 28 प्रतिशत से 12 प्रतिशत। दरों में ये कमी 30 सितंबर तक लागू रहेगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget