मुंबई में बढ़ा म्यूकरमाइकोसिस का खतरा


मुंबई

कोरोना के बाद घातक बन रही म्युकरमाइकोसिस बीमारी का खतरा मुंबई में बढ़ता ही जा रहा है। मुंबई में अब तक 14 मरीजों की इससे मौत हो चुकी है, जबकि 400 मरीजों का इलाज मनपा के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है. मनपा अतिरिक्त सुरेश काकानी ने बताया कि मुंबई में अब तक म्युकरमाइकोसिस के 400 मरीज पाए गए हैं और उनका इलाज मनपा समेत निजी अस्पतालों में चल रहा है। इन मरीजों के इलाज के लिए अलग विभाग बनाया गया है। कोरोना के कुछ रोगियों में म्युकरमाइकोसिस की बीमारी पाई जा रही है। मनपा इस बीमारी से निपटने के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठा रही हैं। उल्लेखनीय है कि म्युकरमाइकोसिस का सीधा असर आंख, नाक और मस्तिष्क पर होता है। काकानी ने बताया कि इस बीमारी से पीड़ित मरीजों का इलाज केईएम, सायन, नायर और कूपर अस्पतालों में चल रहा है. मनपा ने कोरोना की पहली लहर के दौरान पूरी सजगता से निपटा, लेकिन दूसरी लहर थोड़ा ज्यादा परेशान कर दिया था, लेकिन वह भी जल्दी कंट्रोल में आ गई है। इस बीच म्युकरमाइकोसिस के मरीजों की आंखों के इंफेक्शन को साफ किया गया है। हालांकि यदि संक्रमण मस्तिष्क तक पहुंचता है, तो रोगी की मृत्यु की संभावना अधिक होती है। मनपा अस्पताल के निदेशक डॉ. रमेश भारमल ने बताया की इस बीमारी के लिए इंजेक्शन एम्फोटेरिसिन-बी और टैबलेट पॉसोकोनेज़ोल की खरीद की गई है। साथ ही इसके लिए विशेष वार्ड और ऑपरेटिंग थिएटर भी शुरू किए गए हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget