स्लम क्षेत्रों में बेदम हुई महामारी

slum

मुंबई 

कोरोना की दूसरी लहर अब काबू में आती दिख रही है। मुंबई की झोपड़पट्टियों ने अब कोरोना मुक्त की ओर बढ़ना शुरू कर दिया है। मुंबई के चौबीस वार्डों में से 18 वार्डों में अब कोई भी कंटेनमेंट जोन शेष नहीं है। जबकि छह वार्डों में से तीन वार्ड में एक-एक, दो वार्ड में दो और एक वार्ड में तीन प्रतिबंधित क्षेत्र ही बचे हैं। मुंबई के लिए झोपड़पट्टियां कोरोना मुक्त होना मनपा के लिए बड़ी राहत है।  पिछले साल मार्च में कोरोना की शुरुआत के बाद कुर्ला, वर्ली, कोलीवाड़ा, घाटकोपर, मुलुंड, अंधेरी, बांद्रा की झोपड़पट्टियों के साथ धारावी की झोपड़पट्टी में मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ था। मनपा द्वारा 'मिशन जीरो', 'मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी' अभियान के माध्यम से घर-घर जाकर निरीक्षण, सर्वेक्षण, दवा, सैनिटाइजर, जागरूकता, गंदी बस्तियों में कोरोना के प्रभावी कार्य के कारण कोरोना नियंत्रण में आ गया। कोरोना की दूसरी लहर में ऊंची इमारतों की तुलना में झोपड़पट्टियों के लोगों ने जल्द ही कोरोना पर काबू पा लिया।

उत्तर मुंबई से भी कोरोना खत्म होने की कगार पर

पश्चिमी उपनगर के उत्तर मुंबई के आर/सेंट्रल बोरीवली, आर/नॉर्थ दहिसर, पी/साउथ गोरेगांव, पी/नॉर्थ मालाड, के/वेस्ट अंधेरी वेस्ट की झोपड़पट्टियों में फैला कोरोना दूसरी लहर में मनपा के लिए चुनौती खड़ी करी दी थी, लेकिन अब यहां भी कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में आ गया है। इसके अलावा ए-वार्ड फोर्ट, बी-वार्ड डोंगरी, सी-वार्ड  चीराबाजार, कालबादेवी, डी-वार्ड ग्रांट रोड, एफ-नॉर्थ वार्ड सायन-वडाला, किंग सर्कल, एफ-साउथ वार्ड परेल, शिवडी, जी/नॉर्थ वार्ड  धारावी, दादर, माहिम, एच-पूर्व वार्ड बांद्रा पूर्व, सांताक्रूज़, एच-पश्चिम वार्ड बांद्रा पश्चिम, एल-वार्ड कुर्ला, एन-वार्ड घाटकोपर के किसी भी झोपड़पट्टी क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन नहीं बचा है।

इन इलाकों में अब बचे हैं प्रतिबंधित क्षेत्र

झोपड़पट्टियों से जहां कोरोना मुक्ति की ओर है, वहीं केवल छह वार्डों में ही अब कंटेनमेंट जोन बचा है, जिसमें  के/पूर्व वार्ड अंधेरी पूर्व में आठ, आर-दक्षिण वार्ड कांदिवली में छह, एस-वार्ड भांडुप में तीन, टी-वार्ड मुलुंड और एम-पश्चिम वार्ड चेंबूर में 2-2 और ई-वार्ड भायखला वार्ड की एक झोपड़पट्टी में अब कंटेनमेंट जोन शेष रह गया है। इन वार्डों में आने वाले दिनों में कोरोना मुक्त होने के आसार दिखाई देने लगा है।

132 दिन बाद धारावी हुई शून्य

 कोरोना की शुरुआत में संक्रमण का हॉटस्पॉट रहा धारावी अब कोरोना की दूसरी लहर में 132 दिनों बाद शून्य पर आ गई है।  सोमवार को धारावी में कोरोना का एक भी केस नहीं मिला है। इससे पहले दो फरवरी को धारावी में कोरोना के शून्य मरीज मिले थे। जी नार्थ वार्ड के अंतर्गत आने वाले माहिम इलाके में रविवार को कोरोना का कोई मरीज नहीं मिला था।  बता दें कि 10 फरवरी के बाद मुंबई में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हुई थी। आठ अप्रैल को धारावी में सर्वाधिक 99 केस सामने आए थे।

राज्य में कोरोना के 8 हजार नए केस

राज्य में कोरोना वायरस के नए मामलों में उतार-चढ़ाव का दौर अभी भी जारी है। राज्य में सोमवार को कोरोना के 8129 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 200 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 14732 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं। राजधानी मुंबई की बात करें तो पिछले 24 घंटे में शहर में 529 नए मामले सामने आए, जब‍कि 19 मरीजों की मौत हो गई। 24 घंटे में 725 लोगों ने कोरोना को मात दी है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget