भोजपुरी भाषा के सम्मान के लिए सांसद रवि किशन की पहल

फिल्मों और गानों में अश्लीलता पर रोक लगाने के लिए कड़े कानून बनाने की मांग


गोरखपुर 

गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्ला ने भोजपुरी फिल्म और गानों के माध्यम से समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता पर रोक लगाए जाने हेतु सूचना एवं प्रसारण मंत्री भारत सरकार प्रकाश जावडेकर, प्रहलाद सिंह पटेल, संस्कृति मंत्रालय केंद्रीय राज्य मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री बिहार नीतीश कुमार व आलोक रंजन कला संस्कृति एवं युवा विभाग मंत्री बिहार को पत्र लिखकर भोजपुरी फिल्म और गानों के माध्यम समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता पर रोक लगाए जाने के लिए व कठोर कानून बनाएं जाने की मांग किए हैं।

रवि किशन शुक्ला ने पूर्व में बन चुकी फिल्म और अश्लील गानों पर भी प्रतिबंध लगाए जाने की पुरजोर वकालत किया है। भोजपुरी मेगा स्टार सांसद रवि किशन शुक्ला ने भोजपुरी फिल्म जगत में पिछले तीन दशकों से अधिक समय से मुंबई से जुड़े हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि भोजपुरी फिल्म उद्योग को समृद्ध बनाने में इनका महत्वपूर्ण योगदान है। उनकी तरफ से वर्तमान में उठी या मांग निश्चित रूप से प्रासंगिक भी लगता है। रवि किशन गोरखपुर से सांसद बनने के बाद लगातार भोजपुरी के उत्थान के लिए प्रयास कर रहे हैं, लोकसभा में वह इकलौते सांसद हैं, जिनके द्वारा भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में स्थान दिलाने के लिए एक गैर सरकारी सदस्य का विधेयक भी संसद में पेश किया है, जिससे भारत सरकार द्वारा इस भाषा को समवर्धन और संरक्षण प्रदान करें ।

सांसद रवि किशन शुक्ला ने प्रेषित पत्र में इस बात का उल्लेख किया है कि भोजपुरी क्षेत्र का आज़ादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। महात्मा गांधी का चंपारण से सत्याग्रह की शुरुआत, भोजपुर की धरती के महान रण बांकुरे बाबू वीर कुंवर सिंह ने आज़ादी की लड़ाई में सर्वोच्च बलिदान,भोजपुरी भाषा के लोक नाटककार भीखारी ठाकुर और लोक गायक महेंद्र मिश्र की ख्याति देश - विदेश सर्वत्र फैली हुई है ।  मैं स्वयं भी पूर्वांचल के जौनपुर का निवासी हूं,हमारे प्रथम राष्ट्रपति भारत रत्न डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद की उत्पत्ति भोजपुरी माटी में रही है। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget