बंद उद्योगों को मिलेगा जीवनदान

सरकार की विशेष अभय योजना की तैयारी


मुंबई

राज्य के उद्योग विभाग ने बंद उद्योगों के लिए विशेष अभय योजना तैयार की है। यह योजना सूक्ष्म, लघु, मध्यम वर्ग की उत्पादक इकाइयों पर लागू होगी। उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने मंगलवार को कहा कि इस योजना के जरिए बंद पड़े उद्योगों को पुनर्जीवित किया जाएगा, इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

प्रस्तावित अभय योजना के संबंध में उद्योग जगत के सुझावों को समझने के लिए देसाई ने राज्य भर के उद्यमियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए चर्चा की। इस दौरान विदर्भ, मराठवाड़ा, नाशिक, पुणे, अंबरनाथ, तलोजा, अंबड, सिन्नर और अन्य औद्योगिक क्षेत्रों के उद्योगपतियों ने भाग लिया और कुछ सुझाव दिए। उद्योगपतियों के सुझाव पर उद्योग मंत्री ने विभाग के अधिकारियों को एक नई योजना तैयार करने का निर्देश दिया। देसाई ने कहा कि विशेष अभय योजना में बंद पड़ी औद्योगिक इकाइयों की बकाया राशि पर जुर्माना और ब्याज माफ करके नए खरीदारों को औद्योगिक संपत्ति हस्तांतरित करने में मदद की जाएगी। इससे पहले 2016 में इस तरह की अभय योजना से 287 उद्योग लाभान्वित हो चुके हैं। 

प्रस्तावित विशेष अभय योजना भी उद्योग हितैषी होगी। यह योजना उन श्रमिकों को रोजगार प्रदान करेगी, जिन्होंने अपनी नौकरी खो दी है। देसाई ने कहा कि देश के अन्य राज्य भी इसका अनुसरण करेंगे।

इससे पहले, सिन्नर तालुका औद्योगिक सहकारी कॉलोनी के संचालक नामकर्ण अवारे, पिंपरी चिंचवड़ औद्योगिक संघ के कार्यकारी अध्यक्ष गोविंद पानसरे, विदर्भ औद्योगिक संघ के सुरेश राठी, लघु और मध्यम उद्योग संघ के प्रदीप पेशकर ने विभिन्न सुझाव दिए। 

बैठक में उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव बलदेव सिंह, उद्योग विभाग के विकास आयुक्त हर्षदीप कांबले, संयुक्त सचिव संजय देगांवकर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget