कोरोना के विरुद्ध एंटीबॉडी के लिए छह जिलों में शुरू होगा सीरो सर्वे

पटना

बिहार में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान संक्रमण के मामले कम होने के बाद लोगों में एंटीबॉडी बनने को लेकर सीरो सर्वे कराया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने यह सर्वे शुरू कराने का निर्णय लिया है। विभाग के निर्देश पर 18 जून को सर्वे में शामिल होने वाले कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद 20 जून से सर्वे की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। सर्वे में छह साल से अधिक उम्र के बच्चों, जिला अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों को भी शामिल किया जाएगा। राज्य के छह जिलों में सीरो सर्वे कराया जाएगा। विभाग ने बेगूसराय, बक्सर, अरवल, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया और मधुबनी में सीरो सर्वे कराने का निर्णय लिया है। इन जिलों में पांच सौ सैंपल एकत्र किए जाएंगे। इनमें 400 सैंपल पंचायत स्तर पर लिए जाएंगे और 100 सैंपल डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों के लिए जाएंगे। इस प्रकार, सभी छह जिलों में कुल 3000 सैंपल एकत्र किए जाएंगे। राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (आरएमआरआई) पटना के माध्यम से यह सीरो सर्वे कराया जाएगा। आरएमआरआई इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) नई दिल्ली से सीधे जुड़ा हुआ संस्थान हैं। आरएमआरआई के विशेषज्ञ सैंपल एकत्र करने से लेकर उनके विशलेषण तक की जिम्मेदारी निभाएंगे। कोरोना संक्रमण की पहली लहर के दौरान भी आरएमआरआई, पटना के माध्यम से सीरो सर्वे कराए गए थे। जिनके आधार पर कोरोना संक्रमण की स्थिति का आकलन करने में काफी मदद मिली थी। 

क्या है सीरो सर्वे 

सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण यह बताता है कि उस क्षेत्र में कोरोना वायरस कितना फैला हुआ है। इससे समझा जाता है कि कितने लोग संक्रमण के संपर्क में आए हैं। इसके लिए रक्त के नमूने एकत्र किए जाते हैं और रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट किए जाते हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget