तीसरी लहर के लिए मनपा ने तैयार किए दो हजार ऑक्सीजन बेड


मुंबई 

कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पा लिया गया है,पर अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है। विशेषज्ञों ने दो- तीन सप्ताह बाद तीसरी लहर आने की संभावना  जताई है, जो दूसरी लहर से  भी खतरनाक हो सकती है। विशेषज्ञों की सलाह पर बीएमसी तीसरी लहर के लिए अपनी यंत्रणा की तैनाती शुरू कर दी है। दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मांग में भारी वृद्धि को देखते हुए जंबो कोविड सेंटर में ऑक्सीजन के बेड बढ़ाए जा रहे हैं। भायखला के रिचर्डसन एंड क्रूडास और गोरेगांव के नेस्को जंबो कोविड सेंटर इन दोनों में एक-एक हजार बेड बढ़ाए जा रहे हैं। इसके अलावा पोद्दार अस्पताल में 30 आईसीयू बेड भी बढ़ाया जा रहा है।

 कोरोना की दूसरी लहर में रोजाना मिलने वाले मरीजों की संख्या11,663 तक पहुंच गई थी। ऑक्सीजन बेड के मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी थी, जिस कारण पूरे देश में ऑक्सीजन बेड को लेकर आपातकाल की स्थिति पैदा हो गई थी। बीएमसी की यंत्रणा सक्षम होने के कारण मुंबई में कोई दुर्घटना नहीं घटी।

बीएमसी की तत्परता के कारण एक समय 167 मरीजों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करना पड़ा था, जिससे होने वाला अनर्थ टल गया था। तीसरी लहर में मरीजों की संख्या तेज गति से बढ़ने की चेतावनी दी गई है. इसलिए ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की संख्या अभी से तैयार रखी जा रही है। रिचर्डसन में ऑक्सीजन बेड बढ़ाने की मांग हो रही थी। स्थायी समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव ने तुरंत कार्रवाई करने का आदेश दिया है। इसके लिए बीएमसी ने 4करोड़ 56 लाख 46 हजार रुपये का पैकेज स्थायी समिति के सामने मंजूरी के लिए लाया गया है।

‘नेस्को- 2 में फैमिली वॉर्ड

 कोरोना की पहली लहर में पर्याप्त बेड उपलब्ध कराने के लिए 2200 बेड का जंबो कोविड सेंटर शुरू किया गया था। इससे लोगों को बहुत सुविधा हुई। इसी पृष्ठभूमि पर पिछले एक महीने में डेढ़ हजार बेड तैयार किए गए हैं। इसमें 500 नियमित और एक हजार ऑक्सीजन बेड होने की जानकारी कोविड सेंटर के डीन संतोष सलागारे ने दी।

तीसरी लहर में छोटे बच्चों को अधिक खतरा बताया गया है इसलिए नेस्को- 2 में फेमिली वार्ड शुरु किया गया है। यहां 250 बेड उपलब्ध होंगे। बच्चों के साथ यदि पैरेंट्स की जरूरत पड़ती है, तो वे भी रह सकते हैं। यहां पर बच्चों के मनोरंजन के लिए सांप सीढ़ी लूडो, गेम के साथ रीडिंग, की व्यवस्था रहेगी। यहां की दीवारों को कार्टून से रंगा गया है।

वर्तमान में ऑक्सीजन, आईसीयू बेड की स्थिति

 वर्तमान में ऑक्सीजन, आईसीयू, और वेंटिलेटर बेड और बीएमसी की तरफ अपने कब्जे में लिए निजी अस्पतालों, जंबो कोविड सेंटर में इस प्रकार है।

 मुंबई में 10 हजार 930 ऑक्सीजन बेड हैं

  •  1906 बेड पर मरीज हैं
  •  9024 ,बेड रिक्त है
  •  2666 आईसीयू में से 1216 रिक्त 
  •  1450 वेंटिलेटर में से 542 रिक्त हैं


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget