महामारी में योग उम्मीद की किरण: मोदी

Modi

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान योग दुनिया के लिए ‘उम्मीद की किरण’ और इस मुश्किल समय में आत्मबल का स्रोत बना हुआ है। सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर भारत समेत दुनिया के विभिन्न हिस्से में लोगों ने योगाभ्यास किया। देश-विदेश में पहाड़ों से लेकर समुद्र तट, कस्बे से लेकर शहर के पार्कों और घरों में लोगों ने चटाई बिछाकर प्राणायाम और अनुलोम -विलोम किया। कुछ लोगों ने स्वस्थ रहने के लिए रोजाना की तरह योग किया, तो कुछ ने अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर इसमें हिस्सा लिया।

मिलने जा रही ‘एम-योग’ ऐप की शक्तिः  मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ मिलकर भारत ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है और अब दुनिया को ‘एम-योग’ ऐप की शक्ति मिलने जा रही है, जिस पर सामान्य नियमों पर आधारित योग प्रशिक्षण के कई वीडियो दुनिया की अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे। भारत का उपहार है, योग रोग पर प्रहार हैः पीएम मोदी ने ट्विटर पर म्यूजिकल वीडियो शेयर करते हुए लोगों को योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारत का उपहार है, योग रोग पर प्रहार है। योग को एक संगीतमय सम्मान…प्रमुख कलाकारों का एक अनूठा प्रयास। वीडियो चार मिनट, 23 सेकेंड का है, जिसमें योग के कई आसनों का जिक्र कर किया गया है। 

टाइम्स स्क्वायर में योगाभ्यासः दुनिया के विभिन्न हिस्से में भारतीय मिशनों ने इस अवसर पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किए। न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर में 3000 से ज्यादा लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए कई तरह का योगाभ्यास किया। कोविड-19 महामारी के बाद शहर के खुलने के बाद कार्यक्रम के लिए बड़ी संख्या में लोग योग करने, ध्यान लगाने आए और नामी योग गुरुओं ने सत्र में हिस्सा लिया।

योग को बनाया सुरक्षा कवच

प्रधानमंत्री ने कहा कि अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों और चिकित्सकों ने उन्हें बताया कि वैश्विक महामारी से निपटने के दौरान उन्होंने योग को अपना ‘सुरक्षा कवच’ बनाया। वैश्विक महामारी के दौरान योग की भूमिका पर मोदी ने कहा कि ऐसे कई उदाहरण हैं, जब अस्पतालों में चिकित्सकों तथा नर्सों ने योग सत्रों का आयोजन किया और विशेषज्ञ श्वसन तंत्र को बेहतर करने के लिए ‘प्राणायाम’ तथा ‘अनुलोम-विलोम’ जैसे श्वांस संबंधी अभ्यासों के महत्व पर भी जोर दे रहे हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget