संघ से समाज को बहुत अपेक्षाएं, हमें उस पर खरा उतरना होगा : दत्‍तात्रेय होसबाले

dattatray hosabale

रांची

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने देश भर के स्वयंसेवकों को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले समय में हमें लोगों के पुनर्वास, कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचाव के उपाय, संघ के बंद पड़े नित्य कार्य और देश के हर मंडल तक संघ कार्य कैसे पहुंचे, इस पर ध्यान देना है। शाखा के माध्यम से व्यक्ति निर्माण का कार्य करते हुए समाज को सशक्त बनाना है। लोगों से संपर्क और संवाद बनाए रखना है, परंतु इस दौरान स्वयंसेवकों को कोरोना वायरस के साथ-साथ स्वार्थ, भ्रष्टाचार, सत्ता के मोह व प्रसिद्धि की आकांक्षा जैसे वायरस से भी बचना है।

कहा कि आपातकाल के समय तो आज जैसे संपर्क के माध्यम नहीं थे, पुलिस से भी बचना था, फिर भी स्वयंसेवकों ने संपर्क बनाए रखा। इसलिए संपर्क व संवाद चलते रहना चाहिए। वे रविवार की शाम छह बजे से पूरे देश में एक घंटे के लिए लगी संघ की शाखाओं पर स्वयंसेवकों को दिल्ली से ऑनलाइन संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सरसंघचालक डाॅक्टर मोहन भागवत भी उपस्थित थे। कोरोना के कारण सभी शाखाएं निजी कैंपस में लगाई गई और एक स्थान पर अधिक से अधिक 10 स्वयंसेवक उपस्थित थे।  सरकार्यवाह ने कहा कि कोरोना के कारण लोगों की जीवन शैली बदल गई है। लगता है जैसे कि लोग संक्रमण से पूर्व की स्थिति कैसी थी, यह भूल जाएंगे। 

संक्रमण के कारण कई परिवारों ने वेदना सहा है। कई लोगों के रोजगार तो कई के व्यवसाय समाप्त हो गए। कई परिवारों में कमाने वाला चला गया तो कई बच्चे अनाथ हो गए। हमें ऐसे लोगों की चिंता करनी होगी। पिछले वर्ष और इस वर्ष लोगों की मदद के लिए संघ के साथ-साथ पूरा समाज एक साथ खड़ा था। स्वयंसेवकों को सेवा कार्य का कोई विशेष प्रशिक्षण नहीं था, फिर भी चुनौतियां जब आई तो सभी मदद में जुट गए, परंतु आगे के लिए और सजग रहना है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget