पाकिस्तान की इंटरनेशनल बेइज्जती

इमरान ने ब्रिटेन से मांगी भारत जैसी सुविधा, बोरिस जॉनसन ने नकारा

Imran Khan Boris Johnson

इस्लामाबाद

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जुलाई में होने वाले अपने ब्रिटेन दौरे को आगे बढ़ा दिया है। ऐसा पाकिस्तान ने इसलिए किया है, क्योंकि ब्रिटेन ने पाकिस्तान के साथ उस तरह की डील करने से इंकार कर दिया था, जो उन्होंने भारत के साथ की हैं। इमरान की विजिट में दोनों देशों के बीच एक फ्रेंडली क्रिकेट मैच होना था।

हालांकि, पाकिस्तान ने विजिट को आगे बढ़ाने का कारण आंतरिक सुरक्षा को बताया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स से साफ हो रहा है कि भारत जैसा 10 साल का पैक्ट साइन न होने के कारण विजिट आगे बढ़ाई गई है।

भारत और ब्रिटेन ने पिछले महीने स्ट्रैटेजिक पार्टनशिप एग्रीमेंट साइन किया था। इसके मुताबिक 2030 तक दोनों देश के बीच होने वाले व्यापार को बढ़ाकर दोगुना किया जाएगा। इसमें डिफेंस सेक्टर भी शामिल रहेगा।

बोरिस जॉनसन ने 7 जून को इमरान खान से फोन पर बात की थी और उन्हें ब्रिटेन आने का न्योता दिया था। इमरान खान के दौरे से ब्रिटेन ने क्रिकेट फ्रेंडली टूर बनाने की बात कही थी, लेकिन पाकिस्तान की तरफ से भारत की तरह कई डील्स करने को कहा गया। पाकिस्तान ने ब्रिटेन से कहा था कि यदि इमरान खान की विजिट में कोई डील साइन नहीं होती है तो दौरे पर सवाल उठेंगे।

पाकिस्तान को FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर होने की उम्मीद

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की मीटिंग 21 को शुरू हो चुकी है। पाकिस्तान 3 साल से इस संगठन की ग्रे लिस्ट में है। उसे उम्मीद है कि इस बार वो ग्रे लिस्ट से निकल जाएगा और दिवालिया होने की कगार पर खड़ी इकोनॉमी दुनिया की मदद से पटरी पर आ जाएगी। वहीं, अमेरिका और फ्रांस जैसे कई देशों को आशंका है कि अगर पाकिस्तान ग्रे लिस्ट से बाहर आ गया, उसे पाबंदियों से राहत मिल गई तो इसका फायदा वहां मौजूद आतंकी संगठन उठा सकते हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget