सदर अस्पताल से ब्लैक फंगस की दवा गायब

48 घंटे बाद 20 खाली वायल डिफ्रीजर में मिली, हिरासत में दो कर्मचारी

मधुबनी

सदर अस्पताल से ब्लैक फंगस के लिए चिन्हित इंजेक्शन एमफोटेरिसीन-बी की बीस 20 वायल गायब मामले में देर शाम अस्पताल पुलिस छावनी में तब्दील हो गई। डीएम अमित कुमार ने इस मामले में सख्ती दिखाते हुए इस मामले की जांच की जिम्मेदारी सदर एसडीओ अभिषेक रंजन को सौंपी। सदल बल पहुंचकर एसडीओ ने घंटों  तक अस्पताल परिसर के स्टॉक रूम के कार्यरत चारों कर्मियों से गहन पूछताछ की। पूछताछ के बाद इसके बाद फार्मासिस्ट जयप्रकाश, भृगनाथ प्रसाद, डाटा ऑपरेटर मोहन झा को पुलिस की गाड़ी में बैठाया गया। इस दौरान अस्प्ताल परिसर में पूरा गहमागहमी का माहौल कायम था। करीब आधा घंटे के बाद डॉटा ऑपरेटर मोहन झा को वाहन से उतार दिया गया। चर्चा है कि स्टॉफ नर्स चंद्रकला को रात होने की वजह से हिरासत में नहीं लिया गया। हालांकि करीब दो घंटे के बाद फार्मासिस्ट जयप्रकाश व भृगनाथ प्रसाद को हिरासत में लेकर पुलिस वैन से नगर थाना भेजा गया। इस बाबत सदर एसडीओ अभिषेक रंजन ने बताया कि फिलहाल पूछताछ जारी है।  वहीं देर शाम नगर थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि फिलहाल दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में नगर थाना लाया गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है। 

सदर अस्पताल से ब्लैक फंगस की चिन्हित इंजेक्शन एमफोटेरिसीन-बी की बीस  20 वायल गायब होने के मामले में गुरुवार शाम एक नया मोड़ आया। एक जून को स्टॉफ नर्स चंद्रकला ने दवा गायब होने के मामले की लिखित सूचना अधिकारियों को दी। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget