विद्या का कबूलनामा

vidya balan

एक्ट्रेस विद्या बालन ने हाल ही में पुरुषों, महिलाओं और खुद से सेक्सिज्म का सामना करने के बारे में खुलकर बात की है। उनके अनुसार, कई बार उन्होंने खुद को एक महिला होने के कारण कम आंका है। विद्या ने एक इंटरव्यू में बताया कि सेक्सिज्म केवल इस बारे में नहीं है कि पुरुष महिलाओं के साथ कैसा व्यवहार करते हैं। यह महिलाओं की उस मानसिकता के बारे में भी है, जो उनकी डीप रूटेड कंडिशनिंग के परिणामस्वरूप हो जाती है। विद्या ने यह खुद ही कबूल किया है कि वह महिला होने के कारण कभी-कभी अपने आप को कम आंका। विद्या बालन ने कहा कि मैंने पुरुषों, महिलाओं और खुद से सेक्सिज्म का सामना किया है। मैं यह भी स्वीकार करती हूं कि मैंने महिला होने के कारण कभी-कभी अपने आप को कम आंका है। हालांकि, समय के साथ मैंने महसूस किया है कि इससे बाहर निकलने का भी एक रास्ता है। अब मैं अपने जेंडर के कारण खुद को कभी पीछे नहीं रखती हूं। एक्ट्रेस ने हाल ही में रिलीज हुई अपनी फिल्म ‘शेरनी’ के लिए फैंस से मिल रही प्रशंसा के बारे में भी बात की। विद्या ने कहा कि मैं लोगों के देखने के लिए फिल्में बनाती हूं। जितने ज्यादा से ज्यादा लोग मेरी फिल्मों को देखते हैं, उतनी ही ज्यादा खुशी मुझे मिलती है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget