दुकानें शाम चार बजे तक रहेंगी खुली

मंदिर बंद, प्रतिबंधों के स्‍तर को बढ़ाया गया

shop

मुंबई 

सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान लागू नियमों में कई बदलाव किए हैं। अब पूरे राज्‍य में लेवल तीन के नियम लागू होंगे। लेवल तीन में दर्शनार्थियों के लिए मंदिर पूरी तरह बंद रहेंगे। सोमवार से दुकानें शाम 4 बजे बंद हो जाएंगी। इधर राज्‍य आपदा प्रबंधन, मदद और पुनर्वास विभाग की तरफ से ब्रेक द चेन अंतर्गत 4 जून 2021 को लगाए गए प्रतिबंधों को बढ़ाया है। भीड़ और सभा, धार्मिक स्‍थल, निजी प्रशिक्षण कक्षा, कौशल्‍य केंद्र, होटल, पर्यटन स्‍थलों के संदर्भ में स्‍पष्‍टीकरण दिए गए हैं, ताकि प्रतिबंधों के क्रियान्‍वयन करते वक्‍त कोई गलतफहमी या अस्पष्टता न हो। 100 से अधिक लोगों के एक जगह जमा होने पर पूरी तरह पाबंदी होगी। होटल और लॉज मेहमानों के लिए खुले रहेंगे। लेवल तीन, चार और पांच में भीड़ एकत्रित होने या सम्‍मेलन पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी।  

सभा/ सम्मेलन

एक ही जगह पर पांच लोगों के एकत्रित होने को भीड़ के रूप में परिभाषित किया गया है। इसमें शादी समारोह, पार्टियां, चुनाव, अभियान, समाज की बैठकें, धार्मिक कार्यक्रम, मनोरंजक कार्यक्रम, खेल मैच, सामाजिक कार्यक्रम शामिल होंगे। यदि इसमें कोई अस्पष्टता है तो जिला आपदा प्रबंधन प्रशासन कलेक्टर अंतिम निर्णय लेंगे। जब तक कोविड-19 की आपदा रहेगी, तब तक 100 से अधिक लोगों के जमा होने पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी। सिर्फ स्‍थानीय प्रशासन और वैधानिक स्‍वरूप में जमा होने पर छूट मिलेगी। कलेक्टर की अनुशंसा के अनुसार अति आवश्यक कार्य के लिए एसडीएमए/यूडीडी/आरडीडी से पूर्व अनुमति लेनी होगी। निर्माण स्‍थल पर क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक कार्य नहीं किया जा सकता है। खुली जगह में भी 25 फीसदी से ज्यादा क्षमता से काम नहीं हो पाएगा। किसी भी बैठक या सभा की अवधि तीन घंटे से अधिक नहीं हो सकती है। यदि किसी संस्‍था में एक से अधिक बैठक आयोजित है तो इन दोनों बैठकों के बीच पर्याप्त समय होना चाहिए और यह इस तरह से होना चाहिए कि आने वाले और बाहर जाने वाले मेहमानों के बीच कोई बातचीत न हो।

धार्मिक स्थल  

लेवल तीन, चार और पांच में सभी धार्मिक स्थल दर्शनार्थियों के लिए बंद रहेंगे। लेवल 2 में पूर्व अनुमति लेकर दर्शनार्थियों के धर्मस्‍थल खोले जाएंगे। लेवल 1 में सभी नियमों का पालन करते हुए धार्मिक स्थल खुले रहेंगे। धार्मिक स्‍थलों के आसपास रहने वाले और धार्मिक अनुष्‍ठान कराने वालों के लिए धार्मिक स्थल खुले रहेंगे, लेकिन कर्मचारियों को आइसोलेशन बबल में रहने की आवश्यकता होगी। लेवल तीन, चार और पांच के धार्मिक स्थल बाहरी कर्मचारियों के लिए बंद रहेंगे। ऐसे धार्मिक स्थल जहां शादियां या अंत्‍येष्टि होती हैं, वहां नियमों का सख्‍ती से पालन कराया जाएगा।

होटल

होटल और लॉज को मेहमानों के प्रवेश के लिए खुले रहने की अनुमति होगी। अलग-अलग स्तर से आने वाले आगंतुकों पर प्रतिबंध लगाने की जिम्‍मेदारी होटल-लॉज मालिकों की होगी। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget