टीकों को लेकर अफवाह पर ध्यान न दें : पीएम मोदी

100 साल की मेरी मां ने लिया दोनों टीका

Modi

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ में रविवार को मिल्खा सिंह को याद किया और ओलंपिक खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया। इसके साथ ही देशवासियों को आगाह किया कि वे यह समझने की भूल ना करें कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी खत्म हो गई है। उन्होंने कहा कि यह वायरस अपना स्वरूप बदलता है, इसलिए इससे बचाव के लिए कोरोना वायरस संबंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन करना और टीका लगवाना ही उपाय है। 

प्रधानमंत्री ने ‘मन की बात’ की 78वीं कड़ी में लोगों के साथ अपने विचार साझा करते हुए टीकों को लेकर लोगों की आशंका दूर करने की कोशिश की और उनसे भ्रम में ना पड़ने एवं अफवाहों पर ध्यान ना देने की अपील की।  इस दौरान, उन्होंने अपना और अपनी मां का जिक्र भी किया। उन्होनें कहा, ‘‘मैंने दोनों खुराक ली हैं। मेरी माताजी लगभग 100 साल की हैं, उन्होंने भी दोनों खुराक ले ली हैं, इसलिए टीकों को लेकर किसी भी प्रकार की अफवाह पर ध्यान नहीं दें।” कोरोना काल में डॉक्टरों के योगदान के हम सब आभारी हैं। हमारे डॉक्टर्स ने अपनी जान की परवाह न करते हुए हमारी सेवा की है। इसलिए, इस बार नेशनल डॉक्टर्स डे और भी ख़ास हो जाता है। वैसे हमारे देश में कई लोग ऐसे भी हैं, जो डॉक्टर्स की मदद के लिए आगे बढ़कर काम करते हैं। श्रीनगर से एक ऐसे ही प्रयास के बारे में मुझे पता चला।  प्रधानमंत्री ने कहा कि “निर्णायक सफलता का मंत्र है - निरंतरता। इसलिए हमें सुस्त नहीं पड़ना है, किसी भ्रांति में नहीं रहना है। हमें सतत प्रयास करते रहना है। 

हर व्यक्ति को लगे वैक्सीन ये हमारा लक्ष्य

उन्होंने देशवासियों से कहा कि “हमें जागरूक रहना भी है,और जागरूक करना भी है। गांवों में हर एक व्यक्ति को वैक्सीन लग जाए, यह हर गाँव का लक्ष्य होना चाहिए।” उन्होंने कहा कि “गांव के लोगों ने क्वॉरंटीन सेंटर बनाए, स्थानीय ज़रूरतों को देखते हुए कोविड प्रोटोकॉल बनाए। गांव के लोगों ने किसी को भूखा नहीं सोने दिया, खेती का काम भी रुकने नहीं दिया। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget