तीसरी लहर को गंभीरता से लेने की जरूरत: अजित पवार

लोगों को पर्यटन स्थलों पर न जाने की सलाह, नहीं माने तो लगाना होगा 15 दिन क्वारंटाइन का नियम

ajit pawar

मुंबई

राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए लोगों से पूरी तरह सतर्क रहने की अपील की है। उनका कहना है कि भले ही पाबंदियों में ढील दे दी गई है, लेकिन लोगों को टूरिस्ट स्पॉट पर जाने से बचना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अगर लोग पर्यटन के उद्देश्य से जिले से बाहर जाना जारी रखते हैं, तो प्रशासन के पास उनके घर लौटने के बाद ऐसे लोगों पर 15 दिनों की क्वारंटाइन व्यवस्था लागू करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं होगा।

पुणे में वीकेंड लॉकडाउन

पुणे शहर में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के बाद उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या में कमी आ रही है, लेकिन एहतियात के तौर पर यह निर्णय लिया गया है कि गैर-आवश्यक श्रेणी की सभी दुकानें, मॉल, होटल और रेस्तरां सप्ताहांत पर बंद रहेंगे। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था अगले शनिवार और रविवार तक जारी रहेगी। उसके बाद अगर स्थिति में और सुधार होता है तो समीक्षा के बाद सप्ताहांत की पाबंदियां हटाने के संबंध में फैसला लिया जाएगा।

लोग ऐसा क्यों कर रहे हैं?

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बैठक के दौरान पुलिस अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने सप्ताहांत में बड़ी संख्या में लोगों के महाबलेश्वर, लोनावाला और अन्य पर्यटन स्थलों की ओर जाने पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता कि लोग ऐसा क्यों कर रहे हैं। कोविड-19 संक्रमण को गंभीरता से लेने की आवश्यकता है। बहुत से लोग राज्य से बाहर पर्यटन स्थलों पर जाने लगे हैं, कुछ लोग ट्रैकिंग के लिए जाते हैं। यदि यह जारी रहा, तो जिले से बाहर जाने वाले लोगों को वापस आने पर 15 दिनों के लिए क्वारंटाइन में भेजने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं होगा। हमें इस तरह के आदेश जारी करने पड़ सकते हैं।

बहिरवाड़ी गांव में 100 फीसदी टीकाकरण

पवार ने दावा किया कि पुणे जिले की पुरंदर तहसील में बहिरवाड़ी 100 प्रतिशत टीकाकरण पूरा करने वाला देश का पहला गांव बन गया है। 

पर्यटकों के लिए खुले महाबलेश्वर, पंचगनी

लंबे समय से बंद राज्य के महाबलेश्वर और पंचगनी को पर्यटकों को लिए खोल  दिया गया है। हालांकि वहां जाने से पूर्व पर्यटकों को रैपिड एंटीजन टेस्ट कराना होगा। जिन पर्यटकों की रिपोर्ट नेगेटिव आएगी, उन्हें ही पंचगनी और महाबलेश्वर जाने दिया जाएगा।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget