नालों में कचरा फेकने वालों की अब खैर नहीं

लगेगा 200 रुपए दंड  ।   सीसीटीवी से रखी जाएगी नजर


मुंबई

नालों में पानी भरने की घटना से परेशान मुंबई महानगर पालिका अब खुद की जिम्मेदारी से हाथ झटकते हुए लोगों पर कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। मनपा ने नालों पर कचरा फेकने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। मनपा ने कहा है कि नालों की अब सीसीटीवी से निगरानी की जाएगी और कचरा डालते पाए जाने पर दंड लगाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि नालों की सफाई न होने पर मनपा की छीछालेदर हो रही है। मनपा अभी तक कहती थी की बारिश के समय फ्लोटिंग कचरे पानी के बाहव में बह जाते हैं। मनपा अब शहर में पानी भरने और नाला सफाई पर होने वाले आरोपों पर हाथ झटकते हुए नालों में फेके जाने वाले कचरे को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश की है। मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा है की नगरसेवकों द्वारा भी बार -बार यही कहा जाता है की नालों में फेके जाने वाले कचरे से नाला भरता है और बारिश के समय जलजमाव होता है। 

नालों में  प्लास्टिक सामान सहित अन्य प्रकार की सामग्री आदि कई जगहों पर फेंके जा जाता है, जिससे बारिश के पानी का बहाव बाधित होता है, इसके चलते क्षेत्र के लोगों को बाढ़ की समस्या से जूझना पड़ रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए महापौर किशोरी पेडनेकर,मनपा  सदन की नेता  विशाखा राउत एव  स्थायी समिति के अध्यक्ष  यशवंत जाधव ने  मनपा प्रशासन से कचरा फेकने वालों पर कठोर कार्रवाई करने की मांग की थी, जिसके आधार पर मनपा  सीसीटीवी के माध्यम से नालों की निगरानी करने के निर्देश दिया है और नाल में कचरा फेकने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई करने का  भी निर्देश दिया है। मनपा अब नालों में कचरा फेकने वालों पर सीसीटीवी से निगरानी रखेगी और लोगों पर 200 रुपए दंड लगाए जाने की जानकारी मनपा आयुक्त इक़बाल सिंह चहल ने दी। 

मुंबई में  बड़े नालों, छोटे नालों और मीठी नदी का कुल क्षेत्रफल लगभग 689 किमी है, जिसमे  बड़े नालों की लंबाई करीब 248 किलोमीटर है। जबकि  छोटे-छोटे नालों की लंबाई करीब 421 किलोमीटर है। इसके अलावा मीठी नदी भी 20 किमी लंबाई  में फैली हुई, जिसके साफ सफाई की जिम्मेदारी मनपा पर है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget