भुवनेश्वर को इंग्लैंड नहीं ले जाना बड़ी गलती : सरनदीप


नई दिल्ली

पूर्व चयनकर्ता सरनदीप सिंह का मानना है कि अपने ‘सर्वश्रेष्ठ स्विंग गेंदबाज’ भुवनेश्वर कुमार को इंग्लैंड दौर पर नहीं ले जाना बेहद बड़ी गलती है और शार्दुल ठाकुर को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के लिए भारत की 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा होना चाहिए था। भारत को डब्ल्यूटीसी फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी। शार्दुल 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा नहीं थे इसलिए बारिश के बाद साउथैम्प्टन में हालात तेज गेंदबाजी के अनुकूल होने के बावजूद उन्हें तेज गेंदबाजी आलराउंडर के रूप में अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूटीसी फाइनल और चार अगस्त से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही पांच टेस्ट की श्रृंखला के लिए भुवनेश्वर को नहीं चुनना निराशाजनक है।

सरनदीप ने कहा, ‘दो दिन पहले अंतिम एकादश का चयन किया गया तो उसमें दो स्पिनरों की मौजूदगी ठीक थी। लेकिन इसमें बदलाव किया जाना चाहिए था, क्योंकि (बारिश के बाद) हालात तेज गेंदबाजी के अनुकूल हो गए थे।’ उन्होंने कहा, ‘आपने दो स्पिनर (रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा) चुने, क्योंकि वे बल्लेबाजी कर सकते थे। एकमात्र तेज गेंदबाज जो बल्लेबाजी कर सकता है वह शार्दुल है और वह 15 सदस्यीय टीम में भी नहीं था। वह अंतिम एकादश में जगह बनाता या नहीं, उसे 15 सदस्यीय टीम में होना चाहिए था।’

शार्दुल जैसे किसी खिलाड़ी को निखारने की जरूरत

श्रीलंका में अगले महीने होने वाली सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए भारतीय टीम के उप कप्तान बनाए गए भुवनेश्वर के संदर्भ में सरनदीप ने कहा कि इस तेज गेंदबाज का ब्रिटेन दौरे पर जाने वाली टीम में स्वत: चयन होना चाहिए था। उन्होंने कहा, ‘भुवनेश्वर को इंग्लैंड नहीं ले जाना बेहद बड़ी गलती है। वह आपका सर्वश्रेष्ठ स्विंग गेंदबाज है और वह टीम का हिस्सा तक नहीं है।’ सरनदीप ने कहा कि शार्दुल जैसे किसी खिलाड़ी को तेज गेंदबाजी आलराउंडर के रूप में तराशने का समय आ गया है, क्योंकि हार्दिक पंड्या लंबे प्रारूप में गेंदबाजी के लिए फिट नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘आप सिर्फ हार्दिक पर निर्भर नहीं रह सकते। आपको नहीं पता कि वह सभी प्रारूपों में गेंदबाजी करने के लिए कब फिट होगा इसलिए शार्दुल जैसे किसी खिलाड़ी को निखारने की जरूरत है।’


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget