केसर की पंखुडियों में छिपा हैं कई बिमारियों का हल


केसर को मसालों का राजा भी कहा जाता है। केसर में डेढ़ सौ से भी ज्यादा ऐसे औषधीय तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को पूर्ण रुप से स्वस्थ रखने में सहायक होती है। आयुर्वेद के मुताबिक, कई छोटी-छोटी बिमारी हैं, जिन्हें केसर के उपयोग से ठीक किया जा सकता है। वैसे तो आयुर्वेद में केसर के अनेक गुण बताए गए हैं। बता दें की केसर में कई ऐसे औषधीय तत्व मिलते हैं, जो की हमारे शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं। इसके अलावा केसर खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ (दूध) को रंगीन और सुगंधित कर देता है।

चेहरे का रंग निखारे केसर त्वचा को खूबसूरत बनाने का काम करता है। इसके इस्तेमाल से फेस पर निखार आ जाता है और रंग भी गोरा होने लगता है। चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने के लिए नारियल के तेल या देसी घी संग केसर को पीसकर फेस पर लगाया जाता है। पेट दर्द में देता है आराम पेट दर्द में भी राहत का काम करता है केसर। पांच ग्राम भुनी हींग, पांच ग्राम केसर, दो ग्राम कपूर, पच्चीस ग्राम भुना जीरा, पांच ग्राम काला नमक, पांच ग्राम सेंधा नमक, सौ ग्राम छोटी हरड़, पच्चीस ग्राम वायविडंग के बीज, पच्चीस ग्राम अजवाइन को एक साथ पीसकर इस चूर्ण के रूप में बना कर रख दे। जब भी पेट दर्द हो तो इस चूर्ण में से आधा चम्मच गर्म पानी के साथ सेवन करें, पेट दर्द में राहत मिलेगी। नर्वस सिस्टम को बनाए बेहतर सिर और नर्वस सिस्टम के लिए केसर अत्यंत फायदेमंद है। इसके उपयोग से पैरालिसिस, फेशियल पैरालिसिस जैसे मस्तिष्क संबंधी रोग, डायबिटीज के वजह से होने वाली समस्याएं, निरंतर बने रहने वाला सिरदर्द, हाथ-पैर की सुन्नता आदि में दूध, चीनी और घी के साथ केसर का उपयोग करने से फायदा होता है। कैंसर के खतरे को भी रोका केसर पर हुए शोध के मुताबिक, केसर से कैंसर के खतरे को भी रोका जा सकता है। केसर में क्रोसिन नामक तत्व पाया जाता है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget