राजस्थान में सियासी बवंडर

पायलट के बागी बोल- हमसे किए गए वादे 10 महीने बाद भी नहीं हुए पूरे


जयपुर

राजस्थान में पिछले साल सचिन पायलट खेमे की बगावत के बाद बनी कांग्रेस की तीन सदस्यीय सुलह कमेटी की अब तक रिपोर्ट नहीं आने पर कांग्रेस में एक बार फिर विरोध के सुर उठने शुरू हो गए हैं। पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट ने उनसे किए गए वादे पूरे नहीं होने पर नाराजगी जताई है। पायलट ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में खुलकर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि 10 महीने हो गए हैं और उनसे किए वादे पूरे नहीं किए हैं। पायलट ने कहा, 'मुझे समझाया गया था कि सुलह कमेटी तेजी से एक्शन लेगी, लेकिन आधा कार्यकाल पूरा हो चुका है और वे मुद्दे अब भी अनसुलझे ही हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिन कार्यकर्ताओं ने पार्टी को सत्ता में लाने के लिए रात-दिन मेहनत की और अपना सब कुछ लगा दिया, उनकी सुनवाई ही नहीं हो रही है।' पायलट ने 14 अप्रैल को कहा था, 'कई महीनों पहले एक कमेटी बनी थी। मुझे विश्वास है कि अब और ज्यादा देरी नहीं होगी। जो चर्चाएं की थीं और जिन मुद्दों पर आम सहमति बनी थी, उन पर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई होनी चाहिए और ऐसा होगा मुझे लगता है। 

वसुंधरा होंगी CM चेहरा? शर्मा के बयान से खलबली

राजस्थान में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में सीएम चेहरे को लेकर बीजेपी में चल रही गुटबाजी के बीच मंगलवार को पूर्व मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता रोहिताश्व शर्मा के एक बयान ने पार्टी में खलबली मचा दी है। अलवर में वसुंधरा जन रसोई के जरिये शक्ति प्रदर्शन के दौरान पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि पार्टी में चेहरा कहां है? 5-6 लोगों के नाम चल रहे हैं। कोई कहता है ये मुख्यमंत्री बनेगा, कोई कहता है वो मुख्यमंत्री बनेगा। लेकिन एक चेहरा किसी का नहीं है। राजस्थान में वसुंधरा राजे सर्वमान्य नेता हैं और आमजन से पूछेंगे तो 10 में से 9 लोग वसुंधरा को बेस्ट सीएम मानते हैं। उन्होंने कहा, वसुंधरा से बड़ा नाम प्रदेश बीजेपी में कोई दूसरा नहीं है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget