अनलॉक बिहार: लॉकडाउन खत्म

नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा, शाम पांच बजे तक खुलेंगी दुकानें

पटना

बिहार में लॉकडाउन को खत्म कर दिया गया है। अब शाम 7 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। निजी वाहन से आवागमन हो सकेगा। ऑनलाइन शैक्षणिक कार्य भी होंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर जानकारी दी। दुकानें शाम 5 बजे तक खुलेंगी। लॉकडाउन खत्‍म करने के बारे में निर्णय बिहार के आपदा प्रबंध समूह की बैठक में हुआ। सीएम नीतीश ने लॉकडाउन खत्‍म करने के ऐलान के साथ ही अपने ट्वीट में कहा कि लॉकडाउन में कोरोना संक्रमण में कमी आई है। इस वजह से लॉकडाउन खत्‍म करते हुए शाम सात बजे से सुबह पांच बजे तक रात का कर्फ्यू जारी रहेगा। सरकारी और निजी कार्यालयों में शाम चार बजे तक काम होगा। सिर्फ 50 प्रतिशत अधिकारियों-कर्मचारियों को ही बुलाया जा सकेगा। दुकानों के खुलने की अवधिक शाम पांच बजे तक बढ़ा दी गई है। 

स्कूल-काॅलेज फिलहाल बंद रहेंगे

लॉकडाउन खत्‍म कर दिया गया है, लेकिन बच्‍चों की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते सरकारी और गैर सरकारी शैक्षणिक संस्‍थानों को जुलाई तक बंद ही रखने का निर्णय लिया गया है। ये संस्‍थान ऑनलाइन शिक्षण कार्य कर सकेंगे। लॉकडाउन खत्‍म होने के साथ ही निजी वाहनों को भी चलाने की अनुमति दे दी गई। यह व्‍यवस्‍था अगले एक हफ्ते तक रहेगी। इसके बाद के हालात के आधार पर एक बार फिर विचार-विमर्श करके निर्णय लिया जाएगा। मुख्‍यमंत्री ने कोरोना के खतरों के मद्देनजर लोगों से अभी भी भीड़भाड़ से बचकर रहने की अपील की है। 

एक हफ्ते तक रहेगी ये व्यवस्था

सीएम नीतीश कुमार ने बताया है कि यह व्‍यवस्‍था अगले एक हफ्ते तक जारी रहेगी। माना जा रहा है कि एक हफ्ते के बाद एक बार फिर आपदा प्रबंध समूह की बैठक हो सकती है, जिसमें छूट के बाद पड़े प्रभाव की समीक्षा की जाएगी। इसके बाद सरकार कुछ और निर्णय लेगी।

डीएम को दी गई मानीटरिंग की जिम्मेदारी

लॉकडाउन खत्‍म होने के साथ ही कई पाबंदियां खत्‍म हो गई हैं, लेकिन कोरोना प्रोटोकाल, सोशल डिस्‍टेंसिंग और अन्‍य नियमों का पालन कराने की जिम्‍मेदारी जिलाधिकारियों को दी गई है। प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को इसमें सख्ती बरतने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही डीएम कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए अपने इलाके में सख्ती बरतने के साथ धारा 144 जैसे नियम लागू कर सकेंगे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget