कोहली ने दिए टेस्ट टीम में बदलाव के संकेत

virat kohli

नई दिल्ली

न्यूजीलैंड के हाथों विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में मिली हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट टीम में बदलाव के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन की समीक्षा के बाद सही लोगों को लाया जायेगा जो अच्छे प्रदर्शन के लिये सही मानसिकता के साथ उतरें। कोहली ने हालांकि किसी का नाम नहीं लिया लेकिन कहा कि कुछ खिलाड़ी रन बनाने का जज्बा ही नहीं दिखा रहे हैं। फाइनल में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा था। चेतेश्वर पुजारा जैसे सीनियर बल्लेबाज भी दोनों ही पारियों में असफल रहे। कोहली की बातों से ऐसा माना जा रहा है कि कुछ सीनियर खिलाड़ियों को अभी समय दिया जायेगा और इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन करके ही वे टीम में अपनी जगह बचा सकेंगे।

कोहली ने मैच के बाद ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हम आत्ममंथन करते रहेंगे और इस पर बात होती रहेगी कि टीम को मजबूत बनाने के लिये क्या करना चाहिये। एक ही ढर्रे पर नहीं चलेंगे और ना ही हम एक साल तक इंतजार करेंगे। आप हमारी सीमित ओवरों की टीम देखें तो हमारे पास गहराई है और खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे हैं। टेस्ट क्रिकेट में भी इसकी जरूरत है।

बेखौफ खेलने की है जरूरत

कोहली ने कहा कि हमें नये सिरे से समीक्षा करके योजना बनानी होगी और यह समझना होगा कि टीम के लिये क्या असरदार है और हम कैसे बेखौफ खेल सकते हैं। सही लोगों को लाना होगा जो अच्छे प्रदर्शन की सही मानसिकता के साथ उतरें। खेल में अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार जरूरी है। खासकर जब आप लगातार कई साल से नंबर एक टीम हैं तो अचानक आपका स्तर नहीं गिर सकता। उन्होंने कहा कि हम ये फैसले लेंगे और इस पर बात करेंगे। कोहली ने न्यूजीलैंड जैसे शानदार गेंदबाजी आक्रमण के सामने रन बनाने के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि हमें इस पर काम करना होगा कि रन कैसे बनाये जायें।  हमें मैच को अपने हाथ से निकलने नहीं देना है। मुझे नहीं लगता कि कोई तकनीकी परेशानी है। यह जागरूकता की और गेंदबाजों का निडर होकर सामना करने की बात है। गेंदबाजों को लंबे समय तक एक ही जगह गेंदबाजी के मौके नहीं देने हैं बशर्ते गेंद जबर्दस्त स्विंग नहीं ले रही हो जैसा पहले दिन हुआ था।

विराट ने की पंत की तारीफ

कप्तान विराट कोहली ने ऋषभ पंत की जमकर तारीफ की। कोहली ने पंत की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह नहीं चाहते हैं कि पंत लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने सकारात्मक और आशावादी खेल में बदलाव करें।  विराट ने कहा कि देखो ऋषभ पंत को जब कभी मौका मिला है तो उन्होंने बहुत प्रभावित किया, उन्होंने हमेशा टीम की जरूरत के मुताबिक बल्लेबाजी की, मैं समझता हूं कि उन्होंने परिस्थितियों का बहुत अच्छी तरह से आंकलन किया। जब चीजें आपके खिलाफ होती हैं तब आप निर्णय पर सवालिया निशान उठाते हैं जिसे खेल में स्वीकार किया जाता है। उन्होंने आगे कहा कि लेकिन हम नहीं चाहते हैं कि पंत टीम की स्थिति के मुताबिक अपने सकारात्मक और आशावादी खेल को खोएं। कोहली ने कहा कि हम निश्चित तौर पर पंत के खेल का समर्थन करते रहेंगे जिसके तहत वह विपक्षी टीमों पर दबाव डालते हुए रन बनाते हैं, उसके लिए हम इतना चिंतित नहीं है। मेरा विचार है कि इससे उन्हें सोचने और चीजों को लागू करने का समय मिलेगा, क्योंकि उनका क्रिकेट कैरियर बहुत लंबा है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget